Saturday , July 20 2024

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर आज से फर्राटा भरेंगे वाहन, उद्घाटन के बाद जनसभा को संबोधित करेंगे पीएम

उत्तर प्रदेश के नौ जिलों को जोड़ने वाले पूर्वांचल एक्सप्रेस का सुल्तानपुर के कूरेभार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी थोड़ी देर में उद्घाटन करेंगे। उद्घाटन के बाद इस एक्सप्रेस वे पर फर्राटा वाहन दौड़ने लगेंगे। कार्यक्रम में पीएम मोदी की एंट्री सी-130 सुपर हरक्यूलिस ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट में होगी। उद्घाटन के बाद सीएम योगी का ये ड्रीम प्रोजेक्ट आम जनता के लिए खोल दिया जाएगा। पीएम एक जनसभा को भो संबोधित करेंगे।

उद्घाटन के बाद वायुसेना के जांबाज पायलट एयर शो भी दिखाएंगे। इसके लिए 30 फाइटर जेट्स को पूर्वांचल एक्सप्रेस पर उतारने की तैयारी की जा रही है। यह एक्सप्रेस-वे पूर्वी और पश्चिमी उत्तर प्रदेश को जोड़ेगा। ये एक्सप्रेस-वे लखनऊ के चांद सराय गांव से शुरू होता है जो लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, अयोध्या, सुल्तानपुर, अंबेडकर नगर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर गुजरेगा।

दिल्ली से यमुना एक्सप्रेस-वे होते अब सीधे बिहार की सीमा तक वाहनों को शानदार सड़क मिलेगी, जिससे विकास को रफ्तार मिल जाएगी। एक्सप्रेस-वे के नजदीकी क्षेत्रों में उद्योगों के विकास के साथ शैक्षणिक व स्वास्थ्य संस्थान, वाणिज्यिक केंद्र खुलने से विकास के साथ रोजगार की नई राह भी खुलेगी।

उद्घाटन के दौरान प्रधानमंत्री की जनसभा के साथ वायुसेना के बड़े एयर शो की तैयारी पूरी हो गई है। उन्होंने बताया कि एक्सप्रेस-वे पर बैटरी चार्जिंग स्टेशन लगाने के लिए निशुल्क जमीन दी जाएगी। हर पुलिस चौकी के पास हेलीपैड बनाए जाएंगे। फिलहाल इस पर टोल टैक्स नहीं वसूला जाएगा।

उद्घाटन के बाद वायुसेना के जांबाज पायलट एयर शो भी दिखाएंगे। इसके लिए 30 फाइटर जेट्स को पूर्वांचल एक्सप्रेस पर उतारने की तैयारी की जा रही है। यह एक्सप्रेस-वे पूर्वी और पश्चिमी उत्तर प्रदेश को जोड़ेगा। 42 हज़ार करोड़ रुपये की लागत से बना ये एक्सप्रेस-वे लखनऊ के चांद सराय गांव से शुरू होता है जो लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, अयोध्या, सुल्तानपुर, अंबेडकर नगर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर गुजरेगा।

उत्तर प्रदेश सरकार नियमित रूप से चार प्रमुख एक्सप्रेस-वे की प्रगति की निगरानी कर रही है, जिनमें से तीन पर काम चल रहा है, जबकि चौथे पर काम शुरू होना बाकी है। ये हाईवे उत्तर प्रदेश के हर हिस्से को राजधानी लखनऊ से जोड़ेंगे। इन विकास परियोजनाओं का बीजेपी को आने वाले विधानसभा चुनाव में फायदा मिलने की पूरी उम्मीद है।

Check Also

सैन्य इतिहास में पहली बार दो क्लासमेट संभालेंगे थल और नौसेना की कमान

लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी रविवार को थलसेना प्रमुख के रूप में कार्यभार संभालेंगे। लेफ्टिनेंट जनरल …