Thursday , May 23 2024

Diwali 2021: सीएम योगी ने वनटांगिया गांव में मनाई दिवाली, बोले- रामराज्य का सपना हुआ साकार

गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दो दिवसीय गोरखपुर दौरे पर हैं। यहां हर साल की तरह इस बार भी गोरखपुर के वन ग्राम जंगल तिनकोनिया में वनटांगिया परिवारों के साथ दिवाली मनाई।

मोदी सरकार का दिवाली पर तोहफा,पेट्रोल-डीजल के दामों में भारी गिरावट

वनटांगिया गांव जंगल तिनकोनिया नंबर तीन में वनवासियों के बीच दिवाली मनाते हुए कहा कि शासन की जो योजनाएं पहले यहां सपना थीं, अब आसानी से हर पात्र तक उपलब्ध हैं। आजादी के बाद भी 70 साल तक वनटांगिया गांवों में कोई बुनियादी सुविधा तो दूर वोटिंग का अधिकार तक नहीं था, वहां 2017 के बाद से विकास की नई गाथा लिखी गई है।

आठ विकास परियोजनाओं का लोकार्पण-शिलान्यास

अयोध्या में जन्मभूमि पर रामलला और हनुमानगढ़ी का दर्शन करने के बाद वनटांगिया गांव तिनकोनिया नंबर तीन पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सड़क व अन्य बुनियादी सुविधाओं वाली आठ विकास परियोजनाओं का लोकार्पण-शिलान्यास किया। साथ ही उन्होंने गोरखपुर-महराजगंज के वनटांगिया गांवों में रहने वाले वरिष्ठ नागरिकों को सम्मानित कर उपहार दिए।

Ayodhya : 12 लाख दीये से जगमग हुई राम की नगरी अयोध्या, बना वर्ल्ड रिकॉर्ड

उपस्थित जनसमूह को दिवाली की शुभकामना देते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि आजादी मिलने के बाद भी किसी ने उपेक्षित वनटांगिया समुदाय की सुध नहीं ली थी। यहां के लोगों के पास आवास, बिजली,सड़क, पानी, खेती के लिए जमीन जैसी सुविधाएं नहीं थीं। यहां तक कि इन लोगों को अपनी पसंद का प्रधान चुनने का अधिकार भी नहीं था।

पश्चिम बंगाल उपचुनाव में भाजपा की करारी हार, चारों विधानसभा सीटों पर टीएमसी की जीत

आजादी के बाद भी किसी ने नहीं दिया वनटांगिया समुदाय पर ध्यान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि देश को आजादी मिलने के बाद भी वनटांगिया समुदाय उपेक्षित था और किसी भी सरकार ने इस समुदाय के लिए नहीं सोचा. यहां के लोगों के पास कृषि के लिए आवास, बिजली, सड़क, पानी, जमीन जैसी सुविधाएं नहीं थीं. यहां तक भी यहां के लिए अपना मुखिया भी नहीं चुन सकते थे. लेकिन राज्य में बीजेपी की सरकार आने के बाद वनटांगिया गांवों को राजस्व ग्राम घोषित किया और सरकार की सभी योजनाओं और सुविधाओं का लाभ यहां के लोगो को मिला. आज यहां के हर परिवार के पास खेती के लिए अपना पक्का मकान, शौचालय, जमीन का पट्टा है.

Check Also

काशी में 1200 छात्र-छात्राओं ने बनाई मानव श्रृंखला

लोकसभा चुनाव को लेकर छात्र- छात्राओं ने मतदाताओं को मतदान के लिए जागरूक करने के …