Saturday , May 18 2024

मनीष सिसोदिया बोले- ऑक्सीजन की कमी से मौत नहीं हुई यह कहना गलत होगा

नई दिल्ली। कोरोना की दूसरी लहर (Second wave corona)के दौरान ऑक्सीजन (Oxygen)की कमी से मौत (Death) हुई या नहीं इस पर दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया (Deputy CM Manish Sisodia) ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री (Union Health Minister) को पत्र लिखा है.

अयोध्या: सावन में पहली बार 21 किलो के चांदी के पालने पर झूला झूलेंगे रामलला

25 हजार लोगों की कोरोना से मौत हुई- सिसोदिया

मनीष सिसोदिया ने बताया है कि, दिल्ली में कुल 25 हजार लोगों की कोरोना (Corona) से मौत हुई है. बिना जांच यह कहना बहुत मुश्किल है कि, इसमें कितने लोगों की मौत ऑक्सीजन की वजह से हुई है.

ऑक्सीजन की कमी से मौत नहीं हुई, यह कहना गलत होगा- सिसोदिया

दूसरी लहर के दौरान ऑक्सीजन की कमी से मृत्यु नहीं हुई, यह कहना फिलहाल गलत होगा. अगर कोई कहता है कि, ऑक्सीजन से मौत नहीं हुई तो यह एक बहुत बड़ा भद्दा मजाक होगा. जो पीड़ित परिवार का मजाक उड़ाने के बराबर होगा.

मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के लोगों ने श्री कृष्ण जन्मभूमि के किए दर्शन, उलेमाओं की ये अपील

इस मामले में जांच करने की आवश्यकता है- सिसोदिया

डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि, हमने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री को पत्र लिखा है. इस मामले में जांच करने की बेहद आवश्यकता है कि, आखिर कोरोना के दौरान ऑक्सीजन की कमी से मौत हुई है.

केंद्र सरकार एलजी को कहें कि वो कमेटी को भंग ना करें- सिसोदिया

केंद्र सरकार एक तरफ कह रही है कि, राज्यों से डाटा मांगा है. दूसरी तरफ राज्य सरकारों को जांच कमेटी बनाने से रोक रही है. हमने हाई लेवल कमेटी का गठन किया है, जो इस मामले में जांच करे और इस बारे में रिपोर्ट सबमिट करे, लेकिन एलजी ने उसे भंग कर दिया. उन्होंने कहा कि, केंद्र सरकार एलजी को कहें कि वो कमेटी को भंग ना करें, जांच करने दें.

गाजियाबाद में रहने वालों के लिए अच्छी खबर, जल्द फ्री वाई-फाई सुविधा का उठाएंगे लाभ

स्किल ओलम्पियाड में शामिल होने के लिए कंपटीशन होगा

मनीष सिसोदिया ने कहा कि, युवाओं को स्किल ओलम्पियाड में शामिल होने भेजेंगे. शंघाई में अगले साल ओलंपियाड होना है. दिल्ली में छात्रों को चुनने के लिए कंपटीशन होगा. कल से क्वाॅलीफाइंग राउंड शुरू होंगे. 16 -30 अगस्त तक सेलेक्शन प्रक्रिया चलेगी.

Check Also

सुप्रीम कोर्ट: जीवन और निजी आजादी के अधिकार के हनन पर सख्ती से निपटने की जरूरत

सुप्रीम कोर्ट ने अभियुक्त को अपनी गिरफ्तारी का आधार जानने को मौलिक और वैधानिक अधिकार …