Wednesday , May 22 2024

मुरादाबाद: कारोबारी से चेकिंग के दौरान वसूली; डीएम तक पहुंची बात…

अमरोहा के कारोबारी से चेकिंग के दौरान स्टेटिक मजिस्ट्रेट सहित तीन कर्मियों ने 50 हजार की वसूली कर ली। इसकी सूचना डीएम को मिली तो उन्होंने तुरंत केस दर्ज करने के आदेश दिए। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

इंपीरियल तिराहे पर चेकिंग के दौरान स्टेटिक मजिस्ट्रेट सहित तीन लोगों ने एक व्यवसायी से 50 हजार की वसूली की। व्यवसायी की शिकायत पर डीएम और एसएसपी ऐक्शन में आ गए। इस मामले में पुलिस ने मजिस्ट्रेट, सिपाही सहित तीन लोगों के खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत केस दर्ज किया है।

अमरोहा जिले के नन्हेड़ा अत्यारपुर निवासी ट्रांसपोर्टर दीक्षित शर्मा 12 अप्रैल की शाम करीब साढ़े छह बजे अपने ड्राइवर योगेंद्र शर्मा के साथ कार से राज्य कर कार्यालय जा रहे थे। बुधबाजार स्थित इंपीरियल तिराहे पर मौजूद मजिस्ट्रेट ने कार को रोक ली।

जांच के दौरान कार के डेशबोर्ड पर रखे दो लाख रुपये मिले। पूछताछ के दौरान व्यापारी ने बताया कि वह साथियों से उधार पैसे लेकर राज्य कर जा रहे हैं। इस दौरान स्टेटिक मजिस्ट्रेट सुरजीत कुमार, कैमरा मैन सुशील और कांस्टेबल दुष्यंत ने कहा कि आप इतना रुपये नहीं ले जा सकते हैं।

वे इसकी शिकायत अधिकारियों से करेंगे। चेकिंग में दो लाख में से 50 हजार रुपये ले लिए। इसके बाद उसे जाने की इजाजत दे दी। इस मामले में व्यवसायी ने एसएसपी और डीएम से शिकायत की। डीएम ने तत्काल जांच के लिए एक टीम भेज दी।

जांच के बाद एसएसपी के निर्देश पर कोतवाली पुलिस ने स्टेटिक मजिस्ट्रेट सुरजीत कुमार, कैमरामैन सुशील और सिपाही दुष्यंत कुमार के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धाराओं के तहत नामजद केस दर्ज कर लिया। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

पकड़े जाने पर गिड़गिड़ाती रही टीम
पकड़े जाने पर मजिस्ट्रेट सहित तीनों आरोपी व्यवसायी के समक्ष गिड़गिड़ाने लगे। वे अपने बीबी बच्चों का हवाला दे रहे थे लेकिन मामला डीएम तक पहुंचने के बाद छूटना मुश्किल था। व्यवसायी भी पसीज गया था लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। समझौता नहीं हो सका।

Check Also

उत्तराखंड: देशभर में लागू होंगे एक जुलाई से ये तीन नए कानून

एक जुलाई से लागू होने वाले तीन नए कानून को लेकर उत्तराखंड की पूरी तैयारी …