Sunday , June 16 2024

वन रैंक वन पेंशन में सरकार ने किये ये बड़े बदलाव, जानें क्या…

2023 शुरू होने से पहले केंद्र सरकार की ओर से रिटायर्ड सेना के जवानों और परिवारों को वन रैंक वन पेंशन (OROP) के तहत दी जाने वाली पेंशन में हाल ही में बदलाव किया गया है। आज हम रिपोर्ट में बताएंगे कि आखिर इसका क्या असर होगा। बता दें, हाल ही केंद्रीय कैबिनेट की ओर से रिटायर्ड सेना के जवानों और परिवारों को दी जाने वाली पेंशन में इजाफा किया गया है। सरकार की ओर से इसके लिए कट ऑफ डेट 1 जुलाई 2019 निर्धारित की गई है।

किसे होगा फायदा?

ओआरओप के तहत किए जाने वाले इस पेंशन संशोधन का लाभ 30 जून, 2019 तक रिटायर्ड होने वाले जवानों को होगा। हालांकि, 1 जुलाई 2014 से पहले रिटायर्ड होने वाले जवानों को इसका लाभ नहीं मिलेगा। पेंशन में किए गए इस बदलाव का सीधा फायदा 25.13 लाख रिटायर्ड जवानों को मिलेगा। इसमें 4.52 लाख से अधिक नए लाभार्थी भी शामिल हैं।

अब मिलेगी इतनी पेंशन और एरियर

पद 01.01.2016 को पेंशन संशोधित पेंशन   01.07.2019 से प्रभावी संभावित एरियर 01.07.2019 से 30.06.2022 तक
सिपाही 17,699 19,726 87,000
नायक 18,427 21,101 1,14,000
हवलदार 20,066 21,782 70,000
नायब सूबेदार 24,232 26,800 1,08,000
सब मेजर 33,526 37,600 1,75,000
मेजर 61,205 68,550 3,05,000
लेफ्टिनेंट कर्नल 84,330 95,400 4,55,000
कर्नल 92,855 1,03,700 4,42,000
ब्रिगेडियर 96,555 1,08,800 5,05,000
मेजर जनरल 99,621 1,09,100 3,90,000
लेफ्टिनेंट जनरल 1,01,515 1,12,050 4,32,000
सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, केंद्र सरकार की ओर से वन रैंक वन पेंशन को 7 नवंबर,2017 को लागू किया गया था। हर पांच साल में इसमें बदलाव किया जाता है। वन रैंक वन पेंशन को लागू करने के लिए सरकार की ओर से हर साल 7,123 करोड़ रुपये खर्च किए जाते हैं।  

Check Also

स्टॉक मार्केट में एंट्री के लिए तैयार स्टेनली लाइफस्टाइल्स

शेयर मार्केट में एंट्री लेने से पहले कंपनी निवेशकों के लिए आईपीओ खोलती है। पहले …