Monday , April 15 2024

गैंगस्टर विकास लगरपुरिया को एसटीएफ ने दिल्ली-गुरुग्राम सीमा से किया गिरफ्तार

सात साल से फरार चल रहे कुख्यात गैंगस्टर विकास लगरपुरिया को हरियाणा पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने गुरुवार को दिल्ली-गुरुग्राम सीमा से गिरफ्तार कर लिया। उस पर हरियाणा और दिल्ली में हत्या, हत्या के प्रयास, रंगदारी, चोरी समेत 24 आपराधिक मामले दर्ज हैं। ढाई लाख रुपये का इनामी गैंगस्टर बहुचर्चित 30 करोड़ रुपये की चोरी का मास्टरमाइंड भी है।
कोर्ट ने उसे 10 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। इस दौरान गुरुग्राम से जुड़े दो आपराधिक मामलों और पानीपत के एक मामले में एसटीएफ पूछताछ करेगी। एसटीएफ के आईजी सतीश बालन ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि 30 करोड़ रुपये की चोरी मामले में मोस्ट वॉटेंड गैंगस्टर दिल्ली से गुरुग्राम होते हुए अपने गांव झज्जर जाएगा। उसके माता-पिता की तबीयत खराब है। ऐसे में एसटीएफ की गुरुग्राम टीम ने दिल्ली-गुरुग्राम बॉर्डर पर नाकेबंदी कर वाहनों की जांच शुरू कर दी। जांच के दौरान एसटीएफ ने तीन युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की। कई घंटे की पूछताछ के बाद दो युवकों को छोड़ दिया गया, जबकि विकास लगरपुरिया को गिरफ्तार कर लिया। उन्होंने बताया कि विकास लगरपुरिया ने पहले गुमराह करने के लिए अपना नाम दीपक बताया। उसने बताया कि वह हिसार का रहने वाला है। पते का सत्यापन कराने पर वह गलत निकला। बाद में आरोपी ने खुलासा किया कि वही गैंगस्टर विकास लगरपुरिया है। ढाई लाख इनाम था घोषित गैंगस्टर विकास लगरपुरिया पर एसटीएफ हरियाणा ने दो लाख रुपये का इनाम घोषित किया हुआ था। 50 हजार रुपये का इनाम दिल्ली पुलिस द्वारा घोषित किया गया था। उस पर दिल्ली में 10 और हरियाणा में 14 आपराधिक मामले दर्ज हैं। काफी समय से इसकी तलाश थी। कैब चालक को नहीं थी कोई जानकारी गैंगस्टर विकास लगरपुरिया दिल्ली से कैब लेकर अपने गांव जा रहा था। गिरफ्तारी के बाद कैब चालक से भी पूछताछ की गई। कैब चालक ने बताया कि उसको इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी कि वह इतना बड़ा गैंगस्टर है। एसटीएफ को गैंगस्टर के पास से कुछ भी नहीं मिला। दुबई से लौटा था गैंगस्टर सूत्रों की मानें तो गैंगस्टर विकास लगरपुरिया दुबई से लौटा था, तभी उसको गिरफ्तार कर लिया गया। वह फर्जी पासपोर्ट के जरिए दुबई चला गया था और वहीं से गैंग को चला रहा था। हालांकि, एसटीएफ ने इस बात की पुष्टि नहीं की। एसटीएफ द्वारा लुक आउट कॉर्नर नोटिस भी जारी करवाया गया था।

Check Also

हल्द्वानी में चोरों ने खंगाला घर, शीशे पर लिखा- चोरी तो करी

चोरी तो करी, पर सोना नहीं मिला है। माफ करना चोरी के लिए। चोरों ने …