Sunday , April 21 2024

पालतू कुत्तों को बिना रजिस्ट्रेशन के सार्वजनिक जगहों पर घूमाना पड़ सकता है मेहेंगा, जानें वजह

पालतू कुत्तों को बिना रजिस्ट्रेशन के सार्वजनिक जगहों पर घूमाना अब महंगा पड़ सकता है। गुरुग्राम नगर निगम ने अब बिना रजिस्ट्रेशन वाले कुत्तों की धरपकड़ शुरू कर दी है। इसके लिए निगम ने वरिष्ठ सफाई अधिकारियों के नेतृत्व में टीमों का गठन कर दिया है।
निगम की टीम सुबह-शाम सार्वजनिक जगहों पर कुत्ते घुमाने वालों पर नजर बनाई हुई है। निगम ने दो दिन पहले ही विदेशी नस्ल के चार कुत्तों को पकड़ लिया था। इनके मालिकों द्वारा कुत्तों का रजिस्ट्रेशन नहीं कराया गया था। इन्हें बसई स्थित शेल्टर होम में भेज दिया गया था। हालांकि, मालिकों को जल्द रजिस्ट्रेशन की चेतावनी देकर उन्हें अब छोड़ दिया गया है। बता दें कि शहर में आए दिन कुत्तों द्वारा लोगों को काटने की घटनाएं बढ़ती जा रही हैं। बीते दो माह में सिर्फ 200 लोगों ने ही निगम में अपने कुत्तों का रजिस्ट्रेशन करवाया है। कुत्तों का पंजीकरण नहीं करवाने वाले लोगों को अब निगम की तरफ से कड़ी कार्रवाई करने की चेतावनी भी दी गई है। रजिस्ट्रेशन की यह है प्रक्रिया : नगर निगम में कुत्तों का रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए शहरवासी सरल पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा निगम के सेक्टर-34 और पुराने कार्यालय में फार्म भरकर जमा करवाना होता है। इसके बाद निगम में 500 रुपये फीस जमा करवाकर रजिस्ट्रेशन किया जा रहा है। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराने में आ रही दिक्कत नगर निगम ने एक तरफ तो कुत्तों का रजिस्ट्रेशन नहीं करवाने वाले लोगों पर सख्ताई शुरू कर दी है, लेकिन लोगों को कुत्तों का रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए ऑनलाइन सुविधा नहीं मिल पा रही है। आरोप है कि सरल पोर्टल पर कुत्तों का ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए ऑप्शन तो आता है, लेकिन उसमें रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन नहीं हो पाता है। सेक्टर-9 आरडब्ल्यूए के सदस्य ललित भोला और सेक्टर-23ए की आरडब्ल्यूए पदाधिकारी पूजा का आरोप है कि रजिस्ट्रेशन के लिए ऑनलाइन सुविधा नहीं मिल पा रही है। कुत्तों को रजिस्ट्रेशन के बाद ही छोड़ा जाएगा नगर निगम की तरफ से जब्त किए गए कुत्तों को निगम के शेल्टर होम में भेजा जाएगा। पकड़े गए कुत्तों को रजिस्ट्रेशन करवाने के बाद ही छोड़ा जाएगा। निगम ने अभी तक जब्त किए गए कुत्तों पर जुर्माने का कोई प्रावधान नहीं किया है। गुरुग्राम नगर निगम के वरिष्ठ सफाई अधिकारी ऋषि मलिक ने बताया कि बिना रजिस्ट्रेशन कुत्तों को सार्वजनिक जगहों पर घुमाने वाले लोगों पर सख्ती की गई है। ऐसे कुत्तों को जब्त किया जाएगा। ऑनलाइन आवेदन करने में आ रही दिक्कतों को जल्द दूर करवाया जाएगा।

Check Also

बंगाल सरकार ने चिड़ियाघर प्राधिकरण को सुझाए नाम

एक ही बाड़े में रखे शेर, शेरनी का नाम अकबर व सीता रखे जाने पर …