Friday , June 21 2024

मध्य प्रदेश के रीवा से सामने आई एक शर्मनाक घटना, चाचा ने किया 15 महीने की बच्ची से रेप

रीवा जिले के लौर थाना क्षेत्र में मानवता को शर्मशार करने वाला मामला सामने आया है। जहां पर दो मासूम सगी बहनों से दरिंदगी का मामला सामने आया है। सगे चाचा ने 7 वर्ष की बच्ची और 15 माह की दुधमुंही बच्ची को अपनी हवस का शिकार बनाते हुए उसके साथ दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया है। बच्ची की मां ने लौर पुलिस को पूरे मामले की जानकारी दी। वरिष्ठ अफसरों ने महिला पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में 15 माह की दुधमुंही बच्ची को जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। जहां स्थिति अब खतरे से बाहर है। पुलिस ने आरोपी चाचा को गिरफ्तार कर लिया है।
दो दिन से कर रहा था दुष्कर्म आरोपी चाचा दो दिनों से डेढ़ साल की मासूम को अपनी हवस का शिकार बना रहा था। पहले उसने गुरुवार को उसके साथ दरिंदगी की फिर शुक्रवार को दुबारा दुष्कर्म किया। मां को जब इस बात की जानकारी लगी तो उसके पैरों तले से जमीन खिसक गई। महिला के पति बाहर काम करता है जिसको फोन करके महिला ने पूरे घटना की जानकारी दी और रिपेार्ट लिखाने की बात कही जिसे देवर ने सुन लिया और कमरे में आकर महिला के साथ जमकर मारपीट की। आरोपी ने रिपोर्ट लिखाने पर जान से मारने की भी धमकी दी। आरोपी ने चाचा ने सात साल की भतीजी को भी बनाया था अपनी हवस का शिकार करीब डेढ़ माह पहले उसने सात वर्षीय बच्ची के साथ बलात्कार किया था। चाचा के डर से उसने मां को इस घटना की जानकारी नहीं दी थी। जब उसको तकलीफ शुरु हुई तब उसने मां को चाचा की हरकतें बताई थी। उस समय लोकलाज के डर से परिजनों ने थाने में घटना की शिकायत दर्ज नहीं करवाई, जिससे आरोपी के हौंसले बुलंद हो गए और उसने अपनी पन्द्रह माह की भतीजी के साथ इस खौफनाक घटना को अंजाम दे डाला। शनिवार को पीडि़त महिला दोनों बच्चियों को लेकर थाने पहुंची। उसने पुलिस को पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी जिसके बाद पुलिस ने आरोपी के खिलाफ बलात्कार के दो मामले दर्ज किये। वहीं घर में दबिश देकर आरोपी को भी गिरफ्तार कर लिया जिससे अब घटना के संबंध में पूछताछ की जा रही है। इस खौफनाक घटना का शिकार हुई पन्द्रह माह की बच्ची घायल हो गई। पुलिस सांयकाल दोनों बच्चियों को लेकर जिला अस्पताल आई जहां उनका चिकित्सकों द्वारा उनका इलाज किया गया। पन्द्रह माह की बच्ची को काफी चोटे आई हैं। चिकित्सक उसकी हालत पर नजर रखे हुए हैं। थाने में लगातार बच्ची दर्द की वजह से रोती रही जिस पर उसे तत्काल अस्पताल भिजवाया गया।

Check Also

दिल्ली: फर्जी जाति प्रमाणपत्र बनाने के मामले में कैंट के तहसीलदार समेत चार गिरफ्तार

तहसीलदार ने फर्जी प्रमाणपत्र बनाने के लिए गिरोह बना रखा था, जिसमें सबके काम बंटे …