Thursday , April 18 2024

जानें श्री गणेश चतुर्थी व्रत का महत्व, नोट कर ले पूजा की विधि और शुभ मुहूर्त

हिंदू पंचांग के अनुसार हर मास शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को विनायक चतुर्थी मनाई जाती है। इस दिन भगवान गणेश की पूजा की जाती है। इस महीने विनायक चतुर्थी 27 नंवबर को मनाई जाएगी। इस दिन भगवान गणेश की पूजा करने से मनुष्य की सभी चिंताएं, चिंतामणि गणेश हर लेते हैं। 1. विनायक चतुर्थी के दिन भगवान गणेश की पूजा करने से मनुष्य का मानसिक विकास होता है। स्मरण शक्ति बढ़ने लगती है और विद्यार्थियों का पढ़ाई में मन लगने लगता है। विनायक चतुर्थी के दिन लड्डू चढ़ाने से भगवान गणेश प्रसन्न होते हैं। 2. विनायक चतुर्थी के दिन में सुबह उठकर स्नान करें। स्नान करने के बाद लाल रंग के वस्त्र धारण करें। 3. विनायक चतुर्थी के दिन भगवान गणेश को लाल व पीले वस्त्र चढ़ाएं। उसके बाद सूर्य देव को जल अर्पित करें। ऐसा करने से भगवान गणेश के साथ सूर्य देव भी प्रसन्न होते हैं। इस उपाय को अपनाने से व्यक्ति के मान- सम्मान में भी वृद्धि होती है। 4. विनायक चतुर्थी के दिन भगवान गणेश को दूर्वा अर्पित करें। ऐसा करने से गणेश जी प्रसन्न हो जाते हैं और व्यक्ति का सोता हुआ भाग्य भी जाग उठता है। पूजा का शुभ मुहूर्त-  विनायक चतुर्थी का प्रारंभ 26 नंवबर, शनिवार रात 07:28 मिनट से प्रारंभ हो रहा है। जो रविवार शाम 04:25 मिनट पर समाप्त हो जाएगा। उदयातिथि के अनुसार अगहन मास में विनायक चतुर्थी 27 नंवबर को मनाई जाएगी। पूजा करने का शुभ मुहूर्त सुबह 11:06 मिनट से लेकर दोपहर 01:12 मिनट तक रहेगा।

Check Also

चंडीगढ़: पंजाब-हरियाणा व चंडीगढ़ में बार एसोसिएशन के चुनाव आज

पंजाब, हरियाणा व चंडीगढ़ की अदालतों और पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के चुनाव में आज …