Monday , May 20 2024

बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने फिर दिखाए बागी तेवर, कृषि बिल को लेकर पीएम को चिट्ठी लिख दी, बोले- अब गृह राज्यमंत्री टेनी को हटाओ

बीजेपी सांसद वरुण गांधी का रुख अचानक से गरम हो गया है। बीजेपी कार्यकारिणी से हटाए जाने के बाद उनके बागी तेवर दिखने लगे हैं। उन्होंने तीन कृषि कानूनों को निरस्त किए जाने की घोषणा के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखा। इस पत्र में न्यूनतम समर्थन मूल्य यानी एमएसपी के लिए कानून बनाने और लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा ‘टेनी’ के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। खबरें हैं वरुण गांधी जल्दी ही बीजेपी छोड़कर किसी और पार्टी में जाने की तैयारी कर रहे हैं। ममता बनर्जी की टीएमसी को लेकर उनकी बातचीत चल रही है।

तीन कृषि कानूनों की वापसी का स्वागत करते हुए पत्र में वरुण ने कहा कि यह निर्णय यदि पहले ही ले लिया जाता तो 700 से अधिक किसानों की जान नहीं जाती। अकसर किसानों का मुद्दा उठाने वाले पीलीभीत के सांसद ने आंदोलन के दौरान मारे गए लोगों के परिजन को एक-एक करोड़ रुपये का मुआवजा देने की भी मांग की। 

उन्होंने कहा कि ‘‘यह आंदोलन एमएसपी की मांग पूरी किए बिना समाप्त नहीं होगा और किसानों में एक व्यापक रोष बना रहेगा, जो किसी न किसी रूप में सामने आता रहेगा। अतः किसानों को फसलों की एमएसपी की वैधानिक गारंटी मिलना अत्यंत आवश्यक है। सरकार को राष्ट्रहित में इस मांग को भी तत्काल मान लेना चाहिए। इससे, किसानों को एक बहुत बड़ा आर्थिक सुरक्षा चक्र मिल जाएगा और उनकी स्थिति में व्यापक सुधार होगा।’’ 

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले को लोकतंत्र पर ‘‘काला धब्बा’’ करार देते हुए भाजपा नेता ने कहा कि इस घटना में निष्पक्ष जांच एवं न्याय के लिए ‘‘इसमें लिप्त एक केंद्रीय मंत्री पर भी सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मेरा विश्वास है कि किसानों की उपरोक्त अन्य मांगों को मांग लेने, लखीमपुर खीरी की घटना में न्याय का मार्ग प्रशस्त करने से आपका सम्मान देश में और बढ़ जाएगा। मुझे आशा है कि इस विषय में भी आप ठोस निर्णय लेंगे।’’ 

Check Also

रायबरेली पहुंचे राहुल गांधी, हनुमान मंदिर में किए दर्शन

कांग्रेस नेता राहुल गांधी रायबरेली पहुंच गए हैं। यहां वह बछरावां के बूथों से होते …