Saturday , May 18 2024

सीएम योगी के बयान पर केरल के सीएम का पलटवार, बोले- अगर बीजेपी सत्ता में नहीं आई तो…

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों के लिए गुरुवार को पहले चरण का मतदान हो रहा है, लेकिन सियासी पारा काफी चढ़ा हुआ है. यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मतदान से पहले एक वीडियो संदेश जारी कर लोगों से बीजेपी के पक्ष में मतदान करने के लिए कहा.

Lakhimpur Kheri Case: आशीष मिश्रा की बेल पर जयंत चौधरी-प्रियंका गांधी ने उठाए सवाल, कही ये बात

योगी ने कहा कि, “अगर इस बार बीजेपी सत्ता में नहीं आई तो राज्य को कश्मीर बंगाल और केरल बनने में देर नहीं लगेगी.” उनके इस बयान को लेकर केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने पलटवार किया है.

विजयन ने ट्वीट कर योगी पर साधा निशाना

सीएम विजयन ने ट्वीट के जरिए योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा. विजयन ने लिखा, “अगर यूपी केरल जैसा हो जाता है, जिसका डर योगी आदित्यनाथ को है, तो देश की सर्वश्रेष्ठ शिक्षा एवं स्वास्थ्य सुविधा, समाज कल्याण, उच्च जीवन स्तर और सौहार्दपूर्ण समाज को यूपी में स्थापित किया जा सकेगा, जहां जाति और धर्म के नाम पर लोगों की हत्या नहीं होगी. यूपी की जनता यही चाहती है.”

सीएम योगी का पूरा बयान देखिए..

योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार सुबह एक वीडियो संदेश जारी किया और उत्तर प्रदेश के मतदाताओं से बीजेपी को वोट देने की अपील की. इस दौरान उन्होंने अपनी उपलब्धियां भी गिनाईं और कहा कि बीजेपी ने पिछले 5 सालों में कई अभूतपूर्व काम किए हैं.

श्रीनगर में PM मोदी पहली फिजिकल रैली, कहा- सेना को लेकर कांग्रेस का रवैया उत्तराखंड के लोग नहीं भूल सकते

योगी ने कहा कि “वोट देते वक्त आप इन सभी बातों का ध्यान रखें. पिछले 5 सालों में बीजेपी सरकार ने आतंकियों और गुंडागर्दी को जिस तरह से कम किया है, वह आप सभी ने देखा है. अगर राज्य में दोबारा से सरकार नहीं आई तो यूपी को कश्मीर, बंगाल और केरल बनने में देर नहीं लगेगी.”

योगी के बयान पर मचा सियासी हंगामा

योगी आदित्यनाथ का यह बयान इस वक्त सूबे की सियासत में काफी चर्चाओं में है. इस बयान पर एक तरफ जहां विपक्ष हमलावर नजर आ रहा है तो बीजेपी के नेता इसका समर्थन कर रहे हैं. सोशल मीडिया पर लोग भी अपने अपने अंदाज में प्रतिक्रिया जाहिर कर रहे हैं.

स्वतंत्र देव सिंह बोले- अभी वोटिंग का आधा दिन भी नहीं हुआ और विपक्ष ने अपनी हार मान ली

Check Also

सुप्रीम कोर्ट: जीवन और निजी आजादी के अधिकार के हनन पर सख्ती से निपटने की जरूरत

सुप्रीम कोर्ट ने अभियुक्त को अपनी गिरफ्तारी का आधार जानने को मौलिक और वैधानिक अधिकार …