Sunday , June 23 2024

राकेश कुमार चौधरी की अध्यक्षता में हुई अवध बार एसोसिएशन की कार्यकारिणी की बैठक, 5 जनवरी को फिर होगी बैठक

लखनऊ। अवध बार एसोसिएशन की कार्यकारिणी की बैठक अध्यक्ष राकेश कुमार चौधरी की अध्यक्षता और महासचिव अमरेन्द्र नाथ त्रिपाठी के संचालन में सम्पन्न हुई।

बैठक में ये लोग रहे मौजूद

बैठक में अवध बार एसोसिएशन के उपाध्यक्ष वरिष्ठ श्री शैलेन्द्र सिंह राजावत, उपाध्यक्ष मध्य श्री प्रतुल गुप्ता (वर्चुअल रूप से). उपाध्यक्ष कनिष्ठ श्री कृष्ण मोहन श्रीवास्तव, संयुक्त सचिव श्री प्रमोद कुमार पाण्डेय, संयुक्त सचिव श्री प्रकार मिश्रा (वर्चुअल रूप से). संयुक्त सचिव श्री पंकज धीर सिंह राना मौजूद रहे।

लखीमपुर कांड में SIT ने दायर की 5000 पन्नों की चार्जशीट, गृह राज्य मंत्री के बेटे को बनाया मुख्य आरोपी

इसके साथ ही बैठक में कोषाध्यक्ष श्री सुरेश चन्द्र पाण्डेय और वरिष्ठ कार्यकारिणी सदस्य श्री अजय सिंह, श्री प्रेम चन्द्र राय, श्री सतेन्द्र कुमार सिंह श्री रमा कान्त दीक्षित, श्रीमती नन्दनी पाण्डेय, श्री ए.पी०. शुक्ला एवं कनिष्ठ कार्यकारिणी सदस्य श्री विजेन्द्र कुमार मिश्रा, श्रीमती प्रीति श्रीवास्तव, श्रीमती मीना सिंह, श्री राकेश कुमार यादव, श्रीमती आभा श्रीवास्तव भी उपस्थिति थे।

बैठक में अधिवक्ताओं के वर्चुअल सुनवाई के भारी विरोध को देखते हुये अवध बार एसोसिएशन की कार्यकारिणी द्वारा निम्नांकित प्रस्ताव पारित किया गया

1. वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए जबकि अधिकतर सदस्यों को वैक्सीन की दोनो डोज लग चुकी है ऐसे में हाईब्रिड मोड सुनवाई (फिजिकल एवं वर्चुअल दोनो माध्यम से की व्यवस्था तत्काल शुरू की जाये जिसमें सीमित संख्या में अधिवक्ताओं के प्रवेश के साथ जिन अधिवक्ताओं के मुकदमे उस न्यायालय कक्ष में पंजीकृत हो के प्रवेश की अनुमति दी जाये। इसी कम में जो अधिवक्ता वर्चुअल बहस करना चाहते हो उनके लिये वर्चुअल बहस की व्यवस्था की जाये।

कोरोना ने डराया : कई राज्यों में बढ़ी सख्ती, राजस्थान-बंगाल में स्कूल बंद, जानें अपने राज्य का हाल ?

2. श्री फेo. एम०. श्रीवास्तव, उपाध्यक्ष कनिष्ठ जी का मत था कि न्यायालयों का सम्पूर्ण कार्य बहिष्कार किया जाये वैसे उन्होंने बहुमत के फैसले के साथ जाने की बात की तत्पश्चात पारित किया गया कि हाईब्रिड मोड सुनवाई (फिजिकल एवं वर्चुअल दोनो माध्यम से कोथिंड प्रोटोकॉल के अनुसार तत्काल रूप से सुनिश्चित की जाये एवं पूर्व की भाति हाईकोर्ट के मिडिएशन सेन्टर में अधिवताओं की सुविधा हेतु विडियो काप्रेसिंग रूम की तत्काल व्यवस्था की जाये।

3. माननीय उच्च न्यायालय में यादों का दाखिला (फिजिकल एवं वर्चुअल दोनो माध्यम से पूर्व की भांति पूर्ववत स्थान से एक्सीलेटर के पास स्थिति काउंटर से स्वीकार किया जाये।

4. यह भी पारित किया गया है कि माननीय उच्च न्यायालय परिसर में स्थिति अधिवक्ता चैम्बर एवं अधिवक्ताओं के बैठने के सभी हॉल, लाईब्रेरी हॉल, ब्लॉक-ए. बी. एम तथा सभी न्यायालय अधिवक्ताओं के प्रयोग हेतु पूर्व की भाति खुले रहें।

5 जनवरी को फिर होगी कार्यकारिणी की बैठक

वहीं इसी क्रम में यह भी तय किया गया कि, आगे की कार्यवाही के लिये फिर से कार्यकारिणी की बैठक 5 जनवरी को दोपहर 1:30 बजे सम्पन्न होगी।

UP Election: सीएम योगी को मथुरा से प्रत्याशी बनाने का अनुरोध, बीजेपी सांसद ने जेपी नड्डा को लिखा पत्र

Check Also

आईपीएस तरुण गाबा बने प्रयागराज के पुलिस कमिश्नर

यूपी में कई जिलों में प्रशासनिक फेरबदल किया गया है। आईपीएस तरुण गाबा को पुलिस …