Saturday , August 12 2023

तालिबान के समर्थन में मुनव्वर राणा, कहा- आज जो हो रहा वो बदले की कार्रवाई

लखनऊ। अफगानिस्तान (Afghanistan) में तालिबान (Taliban) के कब्जे को लेकर भारत (India) में सियासी बयानबाजी शुरू हो गई है. सपा सांसद शफीकुर्रहमान (SP MP ShafiqurRahman) के बाद अब मशहूर शायर मुनव्वर राणा (Munavwar Rana) ने तालिबान का समर्थन (Support) किया.

कलकत्ता HC से ममता बनर्जी को झटका, चुनाव के बाद हिंसा मामले पर CBI जांच के आदेश

मुनव्वर राणा ने किया तालिबान का समर्थन

तालिबान का सर्मथन करते हुए मुनव्वर राणा ने कहा कि, तालिबानियों के बारे में राय बनाने में जल्दबाजी की जा रही है.

कई देशों की फौजों ने तालिबानियों पर बम बरसाए

राणा ने कहा कि, 20 साल में कई देशों की फौजों ने तालिबानियों पर बम बरसाए हैं, आज जो हो रहा है वो बदले की कार्रवाई है.

OBC को बड़ा तोहफा देगी योगी सरकार, इन जातियों को आरक्षण देने की तैयारी

अभी ये साबित नहीं हुआ की तालिबान ने किसी को मारा

अफगानिस्तान में वहीं लोग भाग रहे हैं जो अफगान हुकूमत के खास करीबी हैं. उन्होंने कहा कि, यह कहीं से साबित नहीं हुआ है कि, तालिबान ने किसी को मारा है या भगाया है.

जब तख्ते पलटते हैं तो छोटे मोटे पटरे इतर बितर हो जाते हैं. अगर हिंदुस्तान में हुकूमत बदल जाए तो जो इस हुकूमत के जो खास लोग होंगे वो छिप जाएंगे.

वहीं लोग भाग रहे हैं जो अफगान सरकार के नशे में डूब गए थे

अभी तक ऐसी कोई रिपोर्ट नहीं आयी जिसमें तालिबान ने जोर जुल्म किया हो. यह वहीं लोग भाग रहे हैं या छिप रहे हैं जो अफगान सरकार के नशे में डूब गए थे.

वाराणसी : IPS विक्रांत वीर का व्हाट्सएप चैट वायरल, ADG से लेकर DGP तक का जिक्र

एक आम आदमी जिसका किसी से कुछ लेना देना नहीं है, उसे यह नहीं कह सकते कि उसकी वजह से लोग भाग रहे हैं.

राणा ने कहा कि, वह उन्हीं का मुल्क हैं, वो बीस साल तक मारे मारे फिरे हैं, अमेरिका ने जितना भी जुल्म किया उन्होंने झेला.

वो सत्ता में आ रहे हैं तो वो जश्न मना रहे हैं

ऐसा कोई खानदान नहीं होगा जिसके दो चार लोग नहीं मरे होंगे. अब वो सत्ता में आ रहे हैं तो वो जश्न मना रहे हैं.

UP: नए किराएदारी कानून लागू होने का रास्ता साफ

अभी न तो प्रधानमंत्री मोदी इस पर कुछ बोले हैं न ही विदेश मंत्री, सभी लोग स्थिति का आंकलन कर रहे हैं. सब लोग देख रहे हैं कि, इनका रवैया क्या होता है.

हालात से बड़ा मरहम कोई नहीं होता

बीस साल भटकने के बाद यह भी आदमी बन गए होंगे. हालात से बड़ा मरहम कोई नहीं होता. चाहे हम हों, आप हों या तालिबानी हों. वक्त सब सिखा देता है.

कलकत्ता HC से ममता बनर्जी को झटका, चुनाव के बाद हिंसा मामले पर CBI जांच के आदेश

Check Also

योगी सरकार नगर पंचायतों में स्थाई अधिशासी अधिकारियों की तैनाती कराने जा रही

राज्य सरकार नगर पंचायतों में स्थाई अधिशासी अधिकारियों (ईओ) की तैनाती कराने जा रही है। …