Sunday , July 14 2024

मानसून में इम्युनिटी बूस्टर का काम करते हैं ये मसाले

बरसात के मौसम में अक्सर इम्युनिटी (Immunity) कमजोर हो जाती हैं जिसकी वजह से कई तरह की बीमारियां और संक्रमण हमें अपनी चपेट में ले लेती हैं। ऐसे में अपनी इम्युनिटी मजबूत (Immunity Booster) करने के लिए डाइट में जरूरी बदलाव करना आवश्यक है। बरसात के मौसम में आप अपनी डाइट में कुछ मसाले शामिल कर खुद को बीमारियों और इन्फेक्शन से बचा सकते हैं।

भारत अपने खानपान के लिए दुनियाभर में मशहूर हैं। यहां के व्यंजनों में कई तरह के मसालों का इस्तेमाल किया जाता है, जो न सिर्फ उनका स्वाद बढ़ाते हैं, बल्कि आपकी सेहत को ढेरों फायदे भी पहुंचाते हैं। लगभग हर भारतीय रसोई में अलग-अलग प्रकार के मसाले पाए जाते हैं, जो अपने स्वाद और बेहतरीन सुगंध की वजह से काफी इस्तेमाल किए जाते हैं। हालांकि, ये मसाले सिर्फ स्वाद बढ़ाने तक ही सीमित नहीं है, बल्कि आपको सेहतमंद बनाने में भी मदद करते हैं।

दिल्ली समेत देश के कई हिस्सों में बारिश के साथ ही मानसून ने दस्तक दे दी है। ऐसे में बदलते मौसम में अक्सर इम्युनिटी कमजोर हो जाती है, जिसकी वजह से कई बीमारियां और संक्रमण लोगों को अपना शिकार बना लेती हैं। ऐसे में कुछ मसालों को अपनी डाइट में शामिल कर आप मानसून में खुद को सेहतमंद बना सकते हैं। आइए जानते हैं मानसून में किन मसालों को करें डाइट में शामिल-

हल्दी

लगभग हर व्यंजन में इस्तेमाल होने वाली हल्दी अपने शक्तिशाली एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-माइक्रोबियल गुणों के लिए जानी जाती है। अपने इन्हीं गुणों की वजह से यह मानसून के लिए एक जरूरी मसाला बन जाता है। यह इम्युनिटी बढ़ाने में मदद करती है, जिससे बरसात के मौसम में संक्रमण से बचाव होता है।

लौंग

यूजेनॉल से भरपूर, लौंग लोकप्रिय एक गर्म मसाला है, एंटीवायरल और एंटी-माइक्रोबियल गुणों से भरपूर होती है। इसमें मौजूद यही गुण इसे मौसमी बीमारियों से बचाने के लिए एक आदर्श मसाला बनाता है। आप लौंग को विभिन्न तरीकों से जैसे में डालकर या स्वादिष्ट व्यंजनों में शामिल करके डाइट का हिस्सा बना सकता है। लौंग पाचन में सुधार करने के साथ ही रेस्पिरेटरी संबंधी समस्याओं से राहत दिलाती है और मानसून में आपकी इम्युनिटी भी बढ़ाती है।

अजवाइन

अजवाइन अपने चमत्कारी गुणों की वजह से जाना जाता है। यह मानसून का एक जरूरी मसाला है, जो बरसात के मौसम में होने वाली पाचन संबंधी समस्याओं को दूर करने में मदद करता है। अपने वातहर गुणों के लिए मशहूर अजवाइन सूजन और अपच को कम करती है।

जीरा

जीरा अपने अनगिनत स्वास्थ्य लाभों के कारण मानसून के लिए एक महत्वपूर्ण और जरूरी मसाला होता है। यह आमतौर पर पाचन संबंधी समस्याओं से राहत पाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। साथ ही यह मानसून में होने वाली अन्य समस्याओं से बचाने में भी मदद करता है। आप इसे सूप, स्टू और चाय और भुनी हुई सब्जियों में इस्तेमाल कर सकते हैं।

काली मिर्च

काली मिर्च आमतौर पर अपने गर्म गुणों के लिए जानी जाती है। साथ ही यह इम्युनिटी बढ़ाने और पाचन संबंधी समस्याओं से बचाने में भी मदद करता है। यही वजह है कि मानसून में बीमारियों और संक्रमण से बचाने में मददगार होता है। आप इसे सूप, स्टू और चाय या अन्य व्यंजनों में मिलाकर डाइट में शामिल कर सकते हैं।

Check Also

सेहत पर कहर बरपा सकता है कॉर्टिसोल हार्मोन का बढ़ना

हमारे रोजमर्रा के जीवन का प्रभाव हमारी मानसिक सेहत पर भी पड़ता है और हम …