Sunday , April 21 2024

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने अपने नवनिर्वाचित पार्षदों से जानें क्या कुछ कहा…

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को अपने नवनिर्वाचित पार्षदों से पहली बैठक की। उन्होंने कहा कि सभी पार्षद अगले पांच साल इतना शानदार काम करें कि हमारे ऊपर जनता का विश्वास और मजबूत हो। जनता के विश्वास में कमी नहीं आनी चाहिए। इसके साथ ही केजरीवाल ने अपने नवनिर्वाचित पार्षदों को चेताया कि ये (भाजपा वाले) आपको 10-50 लाख रुपये में खरीदने की कोशिश करेंगे।
हमें उम्मीद है कि आप में से कोई नहीं बिकेगा। इनके फोन आएं या मिलने आएं तो रिकार्डिंग कर लेना, इन्हें एक्सपोज करना जरूरी है। इसके साथ ही उन्होंने आम आदमी पार्टी के नवनिर्वाचित पार्षदों को कट्टर ईमानदारी से काम करने और लोगों की सेवा करने का मंत्र दिया।

दिल्ली की जनता ने जताया है भरोसा

उन्होंने कहा कि आप पर दिल्ली की जनता और पार्टी ने भरोसा जताया है, अब आपका काम पूरे देश में फैलना चाहिए।केजरीवाल ने अपने पार्षदों को नसीहत भी दी कि पैसे की लत कभी मत लगाना, वरना बर्बाद हो जाओगो। इस दौरान उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और आप दिल्ली प्रदेश संयोजक गोपाल राय ने भी नवनिर्वाचित पार्षदों का मनोबल बढ़ाया।

ईमानदारी से किया है काम

केजरीवाल ने कहा कि हमने ईमानदारी से काम किया तो इनके सारे षड्यंत्र के बाद भी कोई हमें बेईमान नहीं मानता है। आपका चरित्र और आचरण ही आपको आगे लेकर जाएगा। सीएम ने कहा कि यह बहुत मुश्किल चुनाव था। इन्होंने अपनी पूरी मशीनरी लगा दी थी। सत्येंद्र जैन की गिरफ्तारी की, फर्जी वीडियो लाए, महाठग से लेटर लिखवाए, सीबीआइ-ईडी की रेड कराई, फिर भी जनता ने हमें जिताया। सभी एमएलए और पार्षद मिलकर काम करेंगे।

दो करोड़ लोगों को साथ लेकर चलना है

दिल्ली के दो करोड़ लोगों को साथ लेकर आना है। हमें लोगों को दुश्मन नहीं बनाना है बल्कि दुश्मनी खत्म करनी है। अगर पैसे खाने चालू कर दिए तो ये आखिरी मौका मान लेनाकेजरीवाल ने कहा कि अगर आप यह सोचोगे कि मैं पैसा कमा लूंगा और किसी को पता नहीं चलेगा।ऊपरवाले को तो पता चलता ही है और सभी को भी पता चल जाता है।

भगवान ने आपको मौका दिया है

उन्होंने कहा कि अगर पैसे खाने चालू कर लिए तो ये फिर आप ये मान लेना कि यह जिंदगी का आखिरी मौका है। भगवान ने आपको मौका दे दिया है, आम आदमी पार्टी ने टिकट दे दी, जनता ने जिता दिया, अब यहां से आगे का रास्ता आप के ऊपर है। ईमानदारी से काम करोगे और सेवा करोगे, भविष्य में बहुत आगे तरक्की करोगे। अगर लालच में पड़ गए तो सोच लेना कि अगली बार टिकट और जनता, सब कुछ गया। उसके बाद सिर्फ ये पांच साल ही हैं और कुछ नहीं है।

Check Also

उत्तराखंड: नैनीताल सीट पर 15 साल में सबसे कम मतदान

नैनीताल सीट पर 61.75 प्रतिशत मतदान हुआ। वर्ष-2019 लोकसभा चुनाव से तुलना करें तो इस …