Thursday , May 23 2024

जहांगीरपुरी में हिंसा के बाद सियासत तेज : VHP नेताओं को कुशल चौक के पास रोका गया

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली के जहांगीरपुरी में हिंसा और बुजडोजर चलाए जाने के बाद सियासत और तेज होती हुई दिख रही है. आज एक तरफ जहां टीएमसी की फैक्ट फाइडिंग टीम वहां पर पहुंचेगी तो दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी का डेलिगेशन भी पहुंच रहा है. इस बीच, जहांगीरपुरी के कुशल चौर पर विश्व हिन्दू परिषद के नेताओं को रोक दिया गया.

सपा से नाराजगी के बीच शिवपाल यादव ने सीतापुर जेल में की आजम खान से मुलाकात

वीएचपी के नेता गलियों में जाने की कोशिश कर रहे थे. इस बीच, हिंसा के बाद आज पहला जुमा है, इसकी वजह से एक तरफ जहां भारी सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है तो वहीं दूसरी तरफ सीसीटीवी कैमरे से कड़ी नजर रखी जा रही है.

विश्व हिन्दू परिषद के प्रतिनिधिंडल ने जताई नाराजगी

जहांगीरपुरी पहुंचे विश्व हिन्दू परिषद के प्रतिनिधिंडल ने पुलिस की तरफ से आगे जाने से रोकने पर नाराजगी जताई. उन्होंने कहा कि यहां पर डेढ़ सौ से ज्यादा हमारे कार्यकर्ता मिलने आए हैं. लेकिन हमें डीसीपी की तरफ से यह अनुरोध किया गया कि सिर्फ पांच लोग मिलने जाएंगे. उसके बाद हम पांच लोग आए लेकिन उसके बावजूद हमें पीड़ित लोगों से नहीं मिलने दिया गया है.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से यूपी विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना ने की मुलाकात

उन्होंने आगे बताया कि हमारा ये मानना है कि जो कुछ 16 को यहां पर हुआ है वो घटना जलियांवाला बाग की है, जब ब्रिटिश की तरफ से घेरकर गोलियां चलाई गई थी. उन्होंने कहा कि जो लोग त्योहार मना रहे थे, उनके ऊपर हमले किए गए, ये सब एक साजिश थी.

हिंसा प्रभावित लोगों से नहीं मिलने दिया गया- ओवैसी

गौरतलब है कि इससे पहले एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी को भी वहां पर हिंसा प्रभावित लोगों के साथ नहीं मिलने दिया गया था. इधर, जहांगीरपुरी में आज सियासी दलों के नेताओं के दौरे से पहले सुरक्षा बढ़ाई गई है. इस बीच जामा मस्जिद की अपील की गई है कि हालात को देखते हुए मस्जिद से जुम्मे की नमाज में बच्चों को ना लाए.

ACS होम और अपर पुलिस महानिदेशक कानून-व्यवस्था ने लखनऊ के थाना चौक का किया निरीक्षण, दिए ये निर्देश

दिल्ली के जहांगीरपुरी में शनिवार की शाम हनुमान जयंती की शोभायात्रा पर पथराव और आगजनी की घटना हुई. उत्तरी पश्चिमी दिल्ली के जहांगीरपुरी में दो समुदायों के लोग आमने-सामने आ गए. भारी हंगामा हुआ और फिर पत्थरबाजी और हथियार भी चले. यह घटना बीते शनिवार शाम 5 से 5.30 के बीच हुआ. उस दौरान शोभायात्रा जहांगीरपुरी के कुशल सिनेमा के पास से गुजर रही थी, तभी अचानक से शोभायात्रा पर पथराव शुरू हो गया.

दंगे के बाद इलाके की सुरक्षा बढ़ाई

इधर, जहांगीरपुरी में हुए दंगे के बाद इलाके की सुरक्षा और निगरानी व्यवस्था की मजबूती पर जोर दिया जा रहा है. बुधवार को इस इलाके में अवैध निर्माण पर बुलडोजर चलाया गया था. कल सुप्रीम कोर्ट ने जहांगीरपुरी में उत्तरी दिल्ली नगर निगम (एनडीएमसी) की ओर से अतिक्रमणकारियों पर बुलडोजर चलाए जाने के संबंध में यथास्थिति के निर्देश को अगले आदेश तक बढ़ा दिया.

जहांगीरपुरी में बुलडोज़र पर SC ने लगाई रोक, देश में ऐसी कार्रवाई रोकने की मांग पर जारी किया नोटिस

Check Also

दिल्ली में आसमान से बरस रही ‘आग’: 13 साल बाद पारा 43 पार, आज लू का रेड अलर्ट

सूरज की तपिश से लोग बेहाल हैं। शनिवार को अधिकतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री …