Saturday , May 18 2024

यूपी में 23 फरवरी को चौथे चरण का चुनाव: योगी और केंद्र सरकार के कई मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर, जानें सियासी समीकरण ?

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में अब चौथे चरण के विधानसभा चुनाव की कवायद शुरू हो गई है. इस चुनावी रण में अयोध्या समेत अवध की कुछ सीटें बेहद अहम मानी जा रहीं है जहां से कई दिग्गज नेता चुनावी मैदान में है.

सपा ने जारी की 30 स्टार प्रचारकों की लिस्ट : शिवपाल सिंह यादव को बनाया गया स्टार प्रचारक

दांव पर इन नेताओं की साख

चौथे चरण में नौ जिलों की 60 सीटों पर 23 फरवरी को मतदान होना है. इस चरण में कुल 624 उम्मीदवार मैदान में हैं. चौथे चरण में चार मंत्रियों की साख दांव पर है, वहीं सोनिया गांधी के गढ़ रायबरेली में कांग्रेस से बगावत कर बीजेपी में शामिल हुईं अदिति सिंह की किस्मत का निर्णय होना है.

सरोजनीनगर सीट पर सभी की नजर

लखनऊ की सरोजनीनगर सीट पर सभी की नजर है. यहां से बीजेपी ने मंत्री स्वाती सिंह का टिकट काट दिया था. बीजेपी ने प्रवर्तन निदेशालय से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति लेकर राजनीति में उतरे राजेश्वर सिंह को टिकट दिया है. उनसे मुकाबले के लिए सपा ने पूर्व मंत्री अभिषेक मिश्रा को खड़ा किया है.

Kumar Vishwas को मिली सुरक्षा : खालिस्तानी समर्थकों की धमकी के बाद केंद्र ने दी Y कैटिगरी की सिक्योरिटी

लखनऊ छावनी सीट से मैदान में मंत्री ब्रजेश पाठक

लखनऊ छावनी सीट से योगी सरकार के विधि मंत्री ब्रजेश पाठक मैदान में हैं. ब्रजेश पाठक 2017 चुनाव में लखनऊ मध्य से जीते थे. लखनऊ पूर्व सीट से नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन दोबारा मैदान में हैं. ऊंचाहार से सपा के ब्राह्मण चेहरे के रूप में पूर्व मंत्री डॉ मनोज पांडेय उम्मीदवार हैं, वहीं बीजेपी ने उनके सामने प्रदेश महामंत्री अमरपाल मौर्य को खड़ा कर दिया है.

केंद्र सरकार के कई मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर

चौथे चरण के मतदान में उम्मीदवारों के साथ-साथ केंद्र सरकार के कई मंत्रियों की भी परीक्षा होगी. इस चरण में जिन जिलों में वोट डाले जा रहे हैं, वहां से केंद्र में सत्तारूढ़ मोदी सरकार के चार मंत्री आते हैं. सबसे कद्दावर नेता रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का, जिनका संसदीय क्षेत्र लखनऊ है.

Indore: पीएम मोदी ने एशिया के सबसे बड़े Bio CNG Plant का किया उद्घाटन, जानें क्या कहा ?

दूसरा नाम है महिला एवं बल विकास मंत्री स्मृति ईरानी का, जिनका संसदीय क्षेत्र अमेठी है. इसके अलावा वरिष्ठ नेता व मोहनलालगंज के सांसद कौशल किशोर और लखीमपुर से सांसद और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के इलाकों में भी चौथे चरण में मतदान होना है.

सीतापुर में सबसे ज्यादा एससी मतदाता

चौथे चरण में जिन इलाकों में मतदान होगा, वहां आबादी के लिहाज से अनुसूचित जाति (एससी) वोट काफी अहम माना जा रहा है. अवध क्षेत्र की बात करें तो सीतापुर में सबसे ज्यादा 32 फीसदी एससी मतदाता हैं.

‘किसान ड्रोन’का उद्घाटन : पीएम मोगी बोले- ड्रोन क्षेत्र में भारत की बढ़ती क्षमता दुनिया को एक नया नेतृत्व देगी

वहीं हरदोई , उन्नाव, रायबरेली में 30 फीसदी के करीब वोटर हैं. लखनऊ में सबसे कम 21 फीसदी एससी मतदाता हैं. यानी चौथे चरण में अवध के आधे से ज्यादा जिलों में अनुसचित जाती आबादी 30 फीसदी से ज्यादा है.

चौथे चरण में 37 फीसदी उम्मीदवार करोड़पति

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की रिपोर्ट के अनुसार, चौथे चरण में 621 में 231 यानी 37 फीसदी करोड़पति हैं. लखनऊ पश्चिम से आम आदमी पार्टी (आप) उम्मीदवार राजीव बक्शी 56 करोड़ के साथ चौथे चरण में सबसे अमीर उम्मीदवार हैं. 621 में 231 यानी 37 फीसदी करोड़पति इस चरण में चुनावी मैदान में हैं.

सपा के वरिष्ठ नेता व विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन का निधन, सीएम योगी ने जताया शोक

लखनऊ पश्चिम से आप उम्मीदवार राजीव बक्शी जिनकी संपत्ति 56 करोड़ है. सीतापुर के महोली से सपा प्रत्याशी अनूप कुमार गुप्ता, 52 करोड़ के मालिक हैं. हरदोई से बसपा प्रत्याशी शोभित पाठक ने 34 करोड़ रूपये अपनी संपत्ति बताई है.

भाजपा के 57 में 50 यानी 88 फीसदी, सपा के 57 में 48 यानी 84 फीसदी, बसपा- 59 में 44 यानी 75 फीसदी, कांग्रेस के 58 उम्मीदवारों में से 28 यानी 48 फीसदी और आप के 45 में 16 यानी 36 फीसदी करोड़पति हैं.

Check Also

आज रायबरेली में एक साथ रैली करेंगे प्रियंका, राहुल, अखिलेश और सोनिया गांधी

लोकसभा चुनाव में जीत हासिल करने के लिए इंडिया गठबंधन जोर शोर से चुनाव प्रचार …