Wednesday , November 29 2023

जालौन में मायावती ने प्रत्याशियों के लिए मांगे वोट : विपक्ष पर बोला हमला, कहा- इन सरकारों में दलितों पर हुए अत्याचार

उरई, जालौन। बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष व उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री बहन मायावती ने बुंदेलखंड के झांसी मंडल से लड़ रहे 9 प्रत्याशियों के समर्थन में जालौन के उरई शहर में प्रत्याशियों के पक्ष पर रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस, सपा, भाजपा पर जमकर हमला बोला।

अपर्णा यादव ने हिंदुओं के तिलक लगाने पर ममता बनर्जी को लताड़ा : अपना राज्य संभालने की दी नसीहत

दलितों पर हुए अत्याचार

उन्होंने कहा कि, इन सरकारों में दलितों पर सबसे ज्यादा अत्याचार हुए हैं। बता दें जालौन में 20 फरवरी को तीसरे चरण में होने वाले मतदान को लेकर सभी पार्टियां अपनी ताकत झोंक रही हैं। इसी क्रम में बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने उरई शहर में एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस, सपा, भाजपा पर हमला बोला।

कांग्रेस पर लगाया जातिवादी होने का आरोप

मायावती ने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि, जातिवादी होने के कारण केंद्र व प्रदेश की सत्ता से पार्टी बाहर हो गई। कांग्रेस सरकार में दलितों का बेहद उत्पीड़न हुआ। यही नहीं बसपा सुप्रीमो ने कहा कि कांग्रेस की सरकार में बाबा साहब का कभी भी सम्मान नहीं किया गया। साथ ही आरक्षण की भी कांग्रेस हमेशा से विरोधी रही है। कांग्रेस ने हमेशा दलित वोटरों के लिये नाटक किया है। हमेशा दलितों को इस्तेमाल वोटों के नाम पर किया गया है।

UP Election : कानपुर देहात में विपक्ष पर बरसे पीएम मोदी, योगी सरकार की गिनाई उपलब्धियां

सपा सरकार में गुंडे माफियाओं का राज रहा

वहीं, दूसरी ओर सपा सरकार में गुंडे माफियाओं का राज रहा और सपा सरकार में सर्वाधिक दंगे हुए हैं। विकास के कार्य हमेशा एक समुदाय और एक क्षेत्र में होते थे, दलित और पिछड़ों के साथ सपा ने हमेशा सौतेला व्यवहार किया है। मायावती ने कहा कि सपा सरकार में भी दलितों पर ही अत्याचार होते रहे और वह चुपचाप देखते रहे।

आरएसएस के एजेंडों को चला रही भाजपा

भाजपा पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि विदेश की भारतीय जनता पार्टी की सरकार में भी पूंजीपति और जातिवाद के लिये काम किया। भाजपा हमेशा आरएसएस के इशारे पर काम करती है। यही नहीं बसपा सुप्रीमो का कहना है कि, भाजपा की सरकार में विकास का कोई भी कार्य नहीं हुआ और आरएसएस के एजेंडों को ही यह पार्टी चला रही है।

पुलवामा हमले की बरसी: पीएम मोदी ने शहीदों को किया याद, सीएम योगी समेत कई नेताओं ने दी श्रद्धांजलि

बसपा प्रत्याशियों के लिए मांगा वोट

बसपा कार्यकर्ताओं को आह्वान करते हुए कहा कि किसी भी दल के बहकावे में नहीं आना है। कोई दल दलितों का हितैषी नहीं है। इस्तेमाल करने के लिए हितेषी वाली बातें करती हैं। आप सभी लोगों को एकजुट होकर बीएसपी के सभी प्रत्याशियों को विजय बनाकर एक बार फिर से प्रदेश में सरकार बनानी है, जिससे बाबा साहब अंबेडकर के सपनों को साकार किया जा सके। मायावती की रैली में सैकड़ों की तादाद में बीएसपी कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Check Also

यूपी विधानसभा का घेराव करने जा रहे अभ्यर्थियों की पुलिस से खींचतान

पिछले 532 दिनों से लखनऊ के ईको गार्डेन में 6800 चयन सूची पर नियुक्ति की …