Saturday , May 18 2024

समाजवादी पार्टी के कैराना प्रत्याशी नाहिद हसन की जमानत अर्जी अदालत ने की खारिज

सहारनपुर। समाजवादी पार्टी के कैराना प्रत्याशी नाहिद हसन की जमानत अर्जी को सहारनपुर की अदालत ने रद्द कर दिया है। सरसावा थाने के गेट पर हुए हंगामे और तोड़फोड़ के मामले में नाहिद हसन पर सहारनपुर की अदालत में मुकदमा विचाराधीन है। इसी मामले में उनके वकील ने जमानत अर्जी दाखिल की थी। जिसे कोर्ट ने खारिज कर दिया है।

बहराइच : एक लाख का इनामी माफिया गब्बर सिंह साथी संग गिरफ्तार, एसटीएफ ने दबोचा

दरअसल, कैराना विधायक नाहिद हसन के खिलाफ वर्ष 2012 में सहारनपुर के थाना सरसावा में एक मुकदमा दर्ज हुआ था। घटनाक्रम के अनुसार, सरसावा थाना क्षेत्र स्थित एक कब्रिस्तान में मिट्टी उठाई जा रही थी और इसी मिट्टी उठाए जाने को लेकर दो पक्षों में विवाद हो गया था। इस विवाद के बाद सरसावा थाना पुलिस ने कुछ लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था।

सरसावा थाने पर नाहिद हसन ने किया था हंगामा

पुलिस ने जब इस मुकदमे में जांच-पड़ताल आगे बढ़ाई और पूछताछ शुरू की तो वर्तमान में कैराना प्रत्याशी नाहिद हसन ने सरसावा पुलिस पर गलत कार्यवाही के आरोप लगाए थे। भीड़ और समर्थकों के साथ सरसावा थाने पर पहुंचे नाहिद हसन ने हंगामा किया था। इस दौरान भीड़ ने तोड़फोड़ कर दी थी।

दिलचस्प हुई रायबरेली सदर सीट की लड़ाई : बीजेपी की अदिति सिंह के सामने कांग्रेस ने डॉक्टर मनीष चौहान को उतारा

इसी मामले में सरसावा थाना पुलिस ने नाहिद हसन समेत उनके साथियों के खिलाफ धारा 147, 341, 342, 188, 504, 353, 427, 283 आईपीसी और लोक संपत्ति क्षति निवारण अधिनियम समेत 7 क्रिमिनल ला अमेंडमेंट के तहत कार्रवाई की थी। अभी तक यह मामला विचाराधीन है।

अदालत ने जमानत याचिका को खारिज किया

अब नाहिद हसन के वकील की ओर से कोर्ट में जमानत की अर्जी दाखिल की गई थी। विशेष लोक अभियोजक एमपी एमएलए कोर्ट गुलाब सिंह ने बताया कि, द्वितीय अपर सिविल जज सीनियर डिवीजन की अदालत से जमानत याचिका को खारिज कर दिया गया है।

यूपी चुनाव से पहले इन पार्टियों के नेताओं और समाजसेवियों ने थामा भाजपा का दामन, सौंपा समर्थन पत्र

Check Also

आज रायबरेली में एक साथ रैली करेंगे प्रियंका, राहुल, अखिलेश और सोनिया गांधी

लोकसभा चुनाव में जीत हासिल करने के लिए इंडिया गठबंधन जोर शोर से चुनाव प्रचार …