Monday , December 11 2023

दिलचस्प हुई रायबरेली सदर सीट की लड़ाई : बीजेपी की अदिति सिंह के सामने कांग्रेस ने डॉक्टर मनीष चौहान को उतारा

रायबरेली। कांग्रेस ने रायबरेली सदर सीट से बीजेपी की अदिति सिंह के सामने डॉक्टर मनीष चौहान को प्रत्याशी बनाया है. इससे सदर सीट पर लड़ाई दिलचस्प हो गई है. नामांकन के अंतिम दिन के कुछ क्षण पहले कांग्रेस ने मनीष को अपना प्रत्याशी घोषित किया. इसके बाद मनीष ने कांग्रेस के सिंबल से नामांकन भी किया.

बसपा ने की 54 उम्मीदवारों की घोषणा, सीएम योगी के खिलाफ लड़ेंगे ख्वाजा शमसुद्दीन, देखें लिस्ट

मनीष ने अपनी जीत पर विश्वास जताते हुए कहा कि निश्चित तौर पर अभी सदर विधानसभा क्षेत्र में जो विकास होना चाहिए था वह नहीं हुआ है. मैं जनता के बीच का व्यक्ति हूं जनता से जुड़ी सभी समस्याओं को दूर करने का हमारा प्रयास होगा.

कौन हैं डॉक्टर मनीष चौहान

डॉ मनीष चौहान खानदानी कांग्रेसी हैं. पेशे से डॉक्टर होने के कारण वो अपना खुद का अस्पताल चलाते हैं. सदर विधानसभा सीट पर सभी पार्टियों ने अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया था. इसमें बीजेपी से अदिति सिंह चुनाव मैदान में हैं. इसको देखते हुए कांग्रेस को एक अच्छे प्रत्याशी की तलाश थी जो अदिति के सामने ताल ठोक सके.

यूपी की झांकी को लगातार तीसरी बार मिला प्रथम स्थान, काशी विश्वनाथ धाम और ओडीओपी थीम

नामांकन के अंतिम समय में कांग्रेस ने डॉक्टर मनीष चौहान को अपना प्रत्याशी बना कर भरोसा जताया. नामांकन करने के बाद डॉ मनीष चौहान ने कहा, ”मैं जमीनी व्यक्ति हूं जनता के बीच से होकर आया हूं. जो बिजली, पानी, सड़क की समस्याएं विधानसभा क्षेत्र में हैं उन सभी को मैं दूर करूंगा क्योंकि जनता के बीच का व्यक्ति हूं. उनकी समस्याओं का मुझे एहसास है. अगर मुझे कुछ और करना होता तो मैं दिल्ली में था वहां से आकर यहां अस्पताल न खोलता.

जनता की समस्याओं को दूर करना है

अस्पताल खोलकर मैंने जन सेवा की है. रायबरेली में स्वास्थ सुविधाएं बेहतर ना होने के कारण मैंने सबसे पहले सीटी स्कैन खोला जिससे कि अगर किसी व्यक्ति को सिर में चोट लगी हो तो उसका यहीं पर टेस्ट हो जाए और कोई घटना ना घटित हो. जनता के बीच रहता हूं और उनकी समस्याओं से रूबरू हूं. जनता की समस्याओं को दूर करना है.”

रायबरेली सदर सीट पर कैसी है लड़ाई

सदर विधानसभा सीट पर लड़ाई अब दिलचस्प हो चुकी है. जहां कांग्रेस से मनीष चौहान ताल ठोक रहे हैं, वहीं बीजेपी से अदिति सिंह मैदान में हैं. सपा ने अपने पुराने प्रत्याशी आरपी यादव पर ही एक बार फिर दांव खेला है. बसपा ने हर बार की तरह इस बार मोहम्मद अशरफ के रूप में एक नए चेहरे को उतारा है.

अखिलेश-जयंत की संयुक्त प्रेसवार्ता : भाजपा पर बोला हमला, इस बार बहुरंगी गठबंधन एकरंगी को हराएगा

कांग्रेस के सिंबल से मनीष चौहान के आ जाने से बीजेपी के अदिति सिंह के लिए सफर आसान नहीं माना जा रहा है. वही सपा प्रत्याशी आरपी यादव भी पूरी तरह लड़ाई में सामने हैं. इस घटनाक्रम के बाद अब सदर सीट पर त्रिकोणीय लड़ाई मानी जा रही है जो दिलचस्प होगी.

Check Also

गोरखपुर: आज सामूहिक विवाह कार्यक्रम में 1500 बेटियों को आशीर्वाद देंगे मुख्यमंत्री योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शनिवार की सुबह दो दिवसीय दौरे पर आएंगे। वह महंत दिग्विजयनाथ पार्क …