Thursday , July 25 2024

Uttarakhand election : सीएम धामी बोले- भाजपा को फिर से मिलेगा जनता का आशीर्वाद, जीतेंगे विधानसभा चुनाव

देहरादून। उत्तराखंड समेत कई राज्यों में चुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया है। वहीं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आने के बाद कई मिथक टूटे हैं। हम उत्तराखंड में भाजपा की सरकार बनाकर मिथक तोड़ेंगे।

मतदाताओं से चुनाव में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने का आह्वान

उन्होंने कहा कि, उत्तराखंड में लोकतंत्र के उत्सव का शुभारंभ हो चुका है। उन्होंने मतदाताओं से चुनाव में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने का आह्वान किया। उन्होंने अपील की कि अधिक संख्या में अपने मताधिकार का प्रयोग करें।

Corona Precaution Dose: वैक्सीनेशन अभियान के लिए बड़ा दिन, आज से स्वास्थ्यकर्मियों और बुजुर्गों को लगेगी बूस्टर डोज

कोरोना महामारी को हराने में होंगे सफल

कोरोना की चुनौती पर मुख्यमंत्री ने विश्वास व्यक्त किया कि, जल्द ही पूरी तरह से इस महामारी को हराने में सफल होंगे। हम सभी कोरोना महामारी को फैलने से रोकने के नियमों का पूर्णत: पालन करेंगे और लोकतंत्र के उत्सव को सफल बनाएंगे। चुनाव में जाने से पूर्व अपनी सरकार के कामकाज पर उन्होंने कहा कि, हमने पांच जनता की सेवा की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में उत्तराखंड के लिए एक लाख करोड़ रुपये की योजनाओं की स्वीकृति हुई।

भाजपा को फिर से मिलेगा जनता का आशीर्वाद

रेलवे, सड़क, हवाई कनेक्टिविटी की योजनाओं के अलावा किसान, उद्यमी, कारोबारी, व्यापारी, दुकानदार, कमजोर वर्ग, युवा, महिला सहित हर वर्ग के हितों के लिए काम किया। रोजगार देने की शुरुआत की। 21 साल से लंबित परिसंपत्तियों के बंटवारे को निपटाया। हमें पूरा भरोसा है कि, भाजपा को फिर से जनता का आशीर्वाद मिलेगा।

Mumbai Fire: मुंबई के मुस्तफा बाग इलाके में लकड़ी के गोदाम में लगी भीषण आग

पार्टी अबकी बार साठ पार के नारे को चरितार्थ करेगी। पीएम नरेंद्र मोदी के केंद्र में आने के बाद कई मिथक टूटे, दोबारा सरकार बनाकर हम उत्तराखंड में भी मिथक तोड़ेंगे। राज्य को ऐसी सरकार चाहिए जो केंद्र में भी हो। धामी ने पार्टी का नारा सुनाया, न काले हाथ में आएगी, न झाड़ू पाएगी विकास की लक्ष्मी कमल के फूल पर आएगी।

खटीमा मेरा पहला व अंतिम प्यार : धामी

मुख्यमंत्री ने कहा कि, खटीमा उनका पहला और अंतिम प्यार है। उन्होंने खटीमा विधानसभा से अलग दूसरी विधानसभा से चुनाव लड़ने की चर्चाओं को खालिस अफवाह करार दिया। उन्होंने कहा कि, खटीमा उनकी कर्मभूमि है और इसे छोड़कर वह कहीं नहीं जाने वाले।

कोरोना से ठीक होकर काम पर लौटे केजरीवाल, कहा- स्थिति गंभीर है लेकिन घबराएं नहीं

Check Also

उच्च व मध्य हिमालय क्षेत्र में मौजूद तालों की गहराई और क्षेत्रफल की नहीं जानकारी

रुद्रप्रयाग: प्राकृतिक तालों की गहराई और क्षेत्रफल की माप को लेकर अभी तक शासन व …