Saturday , May 25 2024

अखिलेश के वादे पर CM योगी का पलटवार, कहा- जब आप बिजली ही नहीं देते थे तो मुफ्त की बात कहां ?

रामपुर। अखिलेश यादव ने यूपी में सरकार आने पर 300 यूनिट फ्री बिजली का दावा किया. वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रामपुर में अखिलेश यादव के वादे पर निशाना साधा.

नए साल पर किसानों को तोहफा : पीएम मोदी ने 10वीं किस्त के 20,900 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए

सीएम योगी ने अखिलेश पर बोला हमला

सीएम योगी ने कहा कि, कुछ देर पहले मैं पढ़ रहा था, बबुआ आज कुछ बोल रहे थे. वो सरकार आने पर मुफ्त में बिजली देनी की बात कर रहे थे. अरे जब आप बिजली ही नहीं देते थे तो मुफ्त में बिजली कहां से दोगे? उल्टा जनता से जो वसूली करते थे, उसके लिए माफी मांग लो. सीएम योगी ने कहा कि, यूपी में अब बिना भेदभाव के गरीब और अमीर दोनों के घरों में बिजली जलती दिखाई दे रही है.

कभी सुरक्षा के काम आता था रामपुर का चाकू

सीएम योगी ने कहा कि, रामपुर का चाकू कभी रक्षा के काम आता था, लेकिन समाजवादी पार्टी की सरकार में दलितों की जमीन को जबरन हथियाने का माध्यम ये बन गया था. अगर अच्छे लोगों के पास शस्त्र होगा तो देश और धर्म की रक्षा के लिए उसका उपयोग करेगा अगर ग़लत लोगों के हाथों में होगा तो लूट खसोट, ग़रीबों की और दलितों की संपत्तियों पर कब्ज़ा करने में उसका दुरुपयोग करेगा. उन्होंने कहा कि, जिसने जैसे किया, उसको उसका फल भी दे दिया गया.

प्रदेशवासियों को मायावती ने दी नववर्ष की शुभकामनाएं, भाजपा पर बोला हमला, जानिए क्या कहा ?

मुजफ्फरनगर के दंगाईयों को सम्मानित किया जाता था

सीएम योगी ने कहा कि, मुजफ्फरनगर के दंगाईयों को सीएम आवास में 2017 से पहले सम्मानित किया जाता था. अब सीएम आवास में गुरुवाणी और किसानों का सम्मान होता है. दोनों सरकारों के बीच ये फर्क है. आज बबुआ ने कहा कि हमारी सरकार होती, तब भी हम भव्य राम मंदिर बनवाते. अरे जब आपको क्रबिस्तान बनाने से फुरसत मिलती, तभी तो राम मंदिर के बारे में सोचते.

मुफ्त में क्या देंगे

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि, भाजपा सरकार ने हर व्यक्ति का अधिकार उसको दिया, पहले बिजली, शौचालय का पैसा कहां जाता था? आपने देखा होगा किस तरह पिछले दिनों जेसीबी से घरों से पैसा निकाला जा रहा है.

Corona in Maharashtra : कोरोना का कहर, महाराष्ट्र में 10 मंत्री और 20 विधायक पाए गए संक्रमित

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि, आप देख सकते हैं ये कैसे लूटते थे. पहले नौकरियां निकलती थीं तो चाचा भतीजे का गैंग वसूली करने निकल जाते थे. भर्तियां रुक जाती थी, न्यायालय के स्टे लग जाता था, नौजवान ठगा रह जाता था. हमने साढ़े 4 लाख सरकारी नौकरियां दीं.

Check Also

प्रियंका गांधी-अखिलेश यादव की आज गोरखपुर में सभा

इंडिया गठबंधन ने सातवें चरण की सीटों के लिए प्रचार पर फोकस बढ़ा दिया है। …