Sunday , July 14 2024

जौनपुर को सौगात : मंत्री नितिन गडकरी ने 3 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का किया शिलान्यास, सीएम योगी ने विपक्ष पर बोला हमला

जौनपुर। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज सोमवार को जिला जौनपुर को विभिन्न परियोजनाओं की सौगात दी है। इस दौरान उन्‍होंने जौनपुर में 1,538 करोड़ रूपए की लागत के कुल 86 कि.मी. लम्बे 03 राष्ट्रीय राजमार्गों एवं 348 अन्य विकास परियोजनाओं का लोकार्पण/शिलान्यास किया है।

बड़ी भूमिका के लिए बड़ा विजन चाहिए

विकास परियोजनाओं के लोकार्पण/शिलान्यास के कार्यक्रम में CM योगी ने कहा कि, बड़ी भूमिका के लिए बड़ा विज़न चाहिए। पिछली सरकारों की सोच संकुचित थी इसलिए वो अपने परिवार तक सीमित थे। श्रमिकों का सम्मान होते हुए कभी देखा था…? पिछली सरकारों को फुर्सत नहीं थी, गरीब की चिंता नहीं थी आज श्रमिक, किसान, युवा, बाल-बेटियों को सम्मान देते हुए ‘एक भारत, श्रेष्ठ भारत’ की परिकल्पना को साकार किया जा रहा है।

श्रीगुरु ग्रंथ साहिब जी से की गई बेअदबी की निंदा, यूपी अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य ने की CBI जांच की मांग

आज अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर का निर्माण प्रारंभ हो चुका है, 2023 तक रामलला अपने भव्य मंदिर में विराजमान होंगे, हम सबको आशीर्वाद देंगे हमारी पीढ़ी सौभाग्यशाली है कि, हम इस भव्य मंदिर को अपने आंखों के सामने बनते हुए देख रहे हैं।

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ क्या बोले-

  • एक तरफ बुलडोजर सड़क बनाने का काम करेगा तो दूसरी तरफ पेशेवर माफियाओं की छाती पर चलाने का काम भी करेगा साढ़े चार वर्षों में एक भी दंगा यूपी में नहीं हुआ यही ‘नया यूपी’ है।
  • डबल डोज की सरकार है तो अन्न का डबल डोज भी मिलेगा कुछ लोग वैक्सीन का विरोध कर जीवन के साथ खिलावाड़ कर रहे थे देश की लड़ाई को कमजोर कर रहे थे।
  • पिछली सरकारों की सोच संकुचित थी छोटी थी इसलिए परिवार तक सीमित थे। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के लिए भारत की 135 करोड़ की आबादी ही उनका परिवार है।
  • समस्या का जो समाधान करे वही सरकार है परिवारवाद व वंशवाद के आधार पर जिन लोगों ने नौजवानों के साथ खिलवाड़ किया, वे विकास नहीं करा सकते थे, जब कोई नौकरी निकलती थी, तो खानदान निकल पड़ता था वसूली पर हमने 5 लाख युवाओं को पारदर्शी तरीक़े से सरकारी नौकरी दी है।
  • जो लाेग परिवार, जाति और वंशवाद के नाम पर राजनीति करते हैं वो लोग यूपी का विकास नहीं कर सकते। ‘सबका साथ-सबका विकास’ के मूलमंत्र के साथ ही विकास संभव है।
  • आज कुछ लोग यूपी के विकास का दावा कर रहे हैं। जनता की सेवा करने का दम भरते हैं। लेकिन वो भूल गए हैं कि वो किस तरह से माफियाओं और अपराधियों को संरक्षण देकर, व्यापारियों की जमीन पर कब्जा व वसूली करवाते थे। वो सब जनता भूली नहीं है।
  • पिछली सरकार सरकारी खजाने में डकैती डालने का काम करती थी। शासन की योजनाओं को सिर्फ अपने चहेतों को दिया जाता था। गरीब व किसान तो सरकारी योजनाओं के लाभ से वंचित रहते थे, लेकिन भाजपा सरकार में आज हर गरीब व किसान को योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है।

तेजी से फैल रहा ओमिक्रोन : देश में 170 हुई संक्रमितों की संख्या

Check Also

यूपी: राहत के साथ आफत भी लेकर आई बारिश, बिजली गिरने से चार की मौत

पूरे यूपी में करीब-करीब मानसून छा गया है। लगातार बारिश होने से प्रदेश के ज्यादातर …