Sunday , July 21 2024

कानपुर में सीएम योगी का औवेसी पर करारा हमला, बोले- सपा का एजेंट बनकर यूपी में प्रवेश कर चुका है ओवैसी

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने आज ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी  पर करारा हमला बोला। उन्होंने औवेसी को

अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी का एजेंट करार दिया है। इसके साथ ही ओवैसी पर राज्य पर दंगा भड़काने का आरोप लगाते हुए सख्त कार्रवाई की चेतावनी भी दे डाली।

बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा के साथ सीएम योगी आज कानपुर दौरे पर थे। यहां ‘बूथ अध्यक्ष सम्मेलन’ को संबोधित करते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, ‘पहले हर तीसरे-चौथे दिन दंगे होते थे, लेकिन अब उत्तर प्रदेश दंगा नहीं होता। ये अब दंगामुक्त प्रदेश की पहचान बन चुका है। मैं इस अवसर पर चचाजान और अब्बाजान के अनुयायियों से कहूंगा कि वे सावधान होकर सुन लें, अगर प्रदेश की भावनाओं को भड़का कर माहौल खराब करोगे, तो फिर सख्ती के साथ सरकार निपटना जानती है।’

भारतीय जनता पार्टी के मंगलवार को होने वाले कानपुर-बुंदेलखंड क्षेत्र के बूथ सम्मेलन और पार्टी के क्षेत्रीय कार्यालय के उद्घाटन समारोह में राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और डिप्टी सीएम केशव मौर्य कानपुर पहुंचे थे। अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने  ओवैसी पर हमला करते हुए कहा कि उस व्यक्ति को चेतावनी देता हूं जो सिटीजनशिप एक्ट संशोधन के नाम पर लोगों को भड़काने का काम फिर से कर रहा है। जनता जानती है कि ओवैसी समाजवादी पार्टी का एजेंट बनकर प्रदेश में प्रवेश कर चुका है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि कोरोना की रोकथाम के लिए भारत ने दुनिया में सबसे अच्छा प्रबंधन किया। जब कोरोना में पूरी दुनिया परेशान थी। लोग जान बचाने की कोशिश में लगे थे, तब भाजपा का कार्यकर्ता जान की परवाह किए बगैर मानवता की रक्षा के लिए समर्पित भाव से कार्य कर रहा था। अब तक देश में 112 करोड़ लोगों को मुफ्त में वैक्सीन लगाई जा चुकी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी ने एक बात कही थी- सिद्धांतहीन राजनीति मौत का फंदा होती है।

आजादी के बाद मूल्यों, आदर्शों और भारत के प्रति सर्वस्व समर्पण करने वाला कोई दल है, तो वो है भारतीय जनता पार्टी। कोरोना काल में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता लोगों की मदद के लिए आगे आए थे। प्रधानमंत्री और जेपी नड्डा की प्रेरणा से ही ऐसा संभव हुआ।

Check Also

सैन्य इतिहास में पहली बार दो क्लासमेट संभालेंगे थल और नौसेना की कमान

लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी रविवार को थलसेना प्रमुख के रूप में कार्यभार संभालेंगे। लेफ्टिनेंट जनरल …