Saturday , May 25 2024

पीएम मोदी ने विपक्ष पर किया करारा हमला, बोले- यूपी में माफिया, परिवारवाद के कारण नहीं हो पाता था विकास, भाषण की 10 बड़ी बातें

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज यूपी में विपक्ष पर जमकर हमला बोला। पूर्वांचल एक्सप्रेस- वे के उद्घाटन के मौके पर पीएम ने दो टूक कहा कि पहले की सरकारों के कारण तेजी से विकास नहीं हो पाता था। उन्होंने कानून व्यवस्था सुधारने के लिए सीएम योगी की जमकर तारीफ करते हुए पहले की सरकारों में माफिया के हावी होने का आरोप लगाया। इसी तरह विकास न हो पाने के लिए उन्होंने परिवारवाद की राजनीति को भी जिम्मेदार ठहराया।

मोदी ने बटन दबाकर आज पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे जनता को समर्पित कर दिया। इस मौके पर मंच पर सीएम योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल श्रीमती आनन्दी बेन पटेल, बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, यूपी के औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना, मंत्री जय प्रताप सिंह जी, धर्मवीर प्रजापति और सांसद मेनका गांधी सहित सभी मंत्री, विधायक उपस्थित थे।

इस मौके पर मोदी ने पूर्वांचल एक्सप्रेस- वे को विकास का पथ करार दिया। उन्होंने कहा कि इस एक्सप्रेस वे का लाभ गरीब को भी होगा और मध्यम वर्ग को भी, किसान की इससे मदद होगी और व्यापारी के लिए भी सुविधा होगी. श्रमिक, उद्यमी को भी लाभ होगा. दलित, युवा, पिछड़े, किसान, हर व्यक्ति को इसका फायदा होगा. निर्माण के दौरान भी इतने हजारों साथियों को रोजगार दिया और अब शुरू होने के बाद भी लाखों नए रोजगार के निर्माण का माध्यम बनेगा. ये भी एक सच्चाई थी कि यूपी जैसे विशाल प्रदेश में पहले एक शहर दूसरे शहर से काफी हद तक कटा हुआ था. अलग-अलग हिस्सों में लोग जाते तो थे, लेकिन एक-दूसरे शहरों में कनेक्टिविटी न होने से परेशान रहते थे. पूरब के लोगों के लिए लखनऊ पहुंचना भी महाभारत जीतने जैसा होता था।

मोदी ने कहा, यूपी में 7-8 साल पहले जो स्थिति थी उसे देखकर मुझे हैरानी होती थी कि आखिर यूपी को कुछ लोग किस बात की सजा दे रहे हैं। 2014 में जब यूपी ने, देश ने मुझे महान भारत भूमि की सेवा का अवसर दिया, तो मैंने यूपी के विकास के लिए बहुत सारे विकास के कार्य शुरू करवाए।

पीएम मोदी ने कहा कि 2014 में जब मुझे सेवा का मौका दिया तो मैंने यहां के सांसद के नाते, प्रधानसेवक के नाते, मैंने उसकी बारीकियों में जाना शुरू किया। गरीबों को पक्के घर मिले, गरीबों के घर में शौचालय हो, महिलाओं को खुले में शौच के लिए बाहर न जाना पड़े, सबके घर में बिजली हो, ऐसे कितने ही काम थे, जो यहां किए जाने जरूरी थे. लेकिन मुझे बहुत पीड़ा है कि तब यूपी में जो सरकार थी, उसने मेरा साथ नहीं दिया. इतना ही नहीं, सार्वजनिक रूप से मेरे बगल में खड़े होने में भी, उन्हें वोट बैंक नाराज होने से डर लगता था। उनको इतनी शर्म आती थी क्योंकि काम का हिसाब देने के लिए उनके पास कुछ था ही नहीं. मुझे मालूम था कि जिस तरह तब की सरकार ने, योगीजी के आने से पहले वाली सरकार ने, यूपी के लोगों के साथ नाइंसाफी की, जिस तरह विकास में भेदभाव किया, जिस तरह सिर्फ अपने परिवार का हित साधा, यूपी के लोग ऐसा करने वालों को हमेशा के लिए यूपी के विकास के रास्ते से हटा देंगे। मोदी ने कहा कि आपने अपनी सेवा का मौका दिया और आज यूपी में हो रहे विकास कार्यों को देखकर मैं कह सकता हूं कि इस क्षेत्र का, यूपी का भाग्य बदलना शुरू हो गया है और तेज गति से बदलने वाला भी है।

पीएम मोदी ने कहा कि पहले यूपी में कितनी बिजली कटौती होती थी, इसे कौन भूल सकता है. कौन भूल सकता है कि यूपी में कानून व्यवस्था की क्या हालत थी। कौन भूल सकता है कि यूपी में मेडिकल सुविधाओं की क्या स्थिति थी। यूपी में तो हालत ऐसे बना दिए गए थे कि यहां सड़कों पर राह नहीं होती थी, राहजनी होती थी। अब राहजनी करने वाले जेल में हैं और राहजनी नहीं, गांव-गांव नई राह बन रही है, नई सड़कें बन रही है। बीते साढ़े 4 साल में यूपी में चाहे पूरब हो या पश्चिम, हजारों गांवों को नई सड़कों से जोड़ा गया है,  हजारों किमी नई सड़कें बनाई गई हैं। अब आप सभी के सहयोग से, यूपी सरकार की सक्रिय भागीदारी से, यूपी के विकास का सपना अब साकार होता दिख रहा है।

पीएम मोदी ने कहा कि आज यूपी में नए मेडिकल कॉलेज बन रहे हैं, एम्स बन रहे हैं, आधुनिक शिक्षा संस्थान बन रहे हैं। कुछ हफ्ते पहले कुशीनगर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का लोकार्पण किया और आज पूर्वांचल एक्सप्रेस वे आपको सौंपने का सौभाग्य मिला है.।

पिछले मुख्यमंत्रियों के लिए परिवार तक ही विकास सीमित था, लेकिन आज जितना पश्चिम का सम्मान है,उतनी ही पूर्वांचल के लिए भी प्राथमिकता है. ये एक्सप्रेस वे आज यूपी को आपस में जोड़ रहा है. इसके बनने से अवध, पूर्वांचल के साथ-साथ बिहार के लोगों को भी फायदा होगा। दिल्ली से बिहार आना-जाना और आसान हो जाएगा।

मोदी ने कहा कि 340 किमी एक्सप्रेस-वे की विशेषता सिर्फ यही नहीं है कि लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, सुल्तानपुर, अयोध्या, अंबेडकरनगर, मऊ, आजमगढ़ और गाजीपुर को जोड़ेगा, इसकी विशेषता ये है कि लखनऊ से उन शहरों को जोड़ेगा जिनमें विकास की असीम आकांक्षा है, विकास की बड़ी संभावना है। आज यूपी सरकार योगीजी के नेतृत्व में 22 हजार करोड़ रुपये से ज्यादा खर्च किए हों, लेकिन भविष्य में ये लाखों करोड़ों के उद्योंगों को यहां लाने का माध्यम बनेगा।

पीएम ने कहा कि आज यूपी में जिन नए एक्सप्रेस वे पर काम हो रहा है, वो किस तरह शहरों को जोड़ने वाले हैं. करीब 300 किमी का बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे, चित्रकूट, बांदा, हमीरपुर, महोबा, जालौन, औरैया और इटावा को जोड़ेगा। 90 किमी गोरखपुर एक्सप्रेस-वे गोरखपुर, अंबेडकरनगर, संत कबीर नगर और आजमगढ़ को जोड़ेगा। 600 किमी का गंगा एक्सप्रेस वे मेरठ, हापुड़, बुलंदशहर, अमरोहा, संभल, बदायूं, शाहजहांपुर, हरदोई, उन्नाव, रायबरेली, प्रतापगढ़ और प्रयागराज को जोड़ेगा। मुझे बताएं इनमें से कितनी बड़े शहर माने जाते हैं। यूपी के लोग इन सवालों का जवाब जानते भी हैं और समझते भी हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि एक व्यक्ति घर भी बनाता है तो पहले रास्तों की चिंता करता है, मिट्टी की जांच करता है, दूसरे पहलुओं पर विचार करता है, लेकिन यूपी में हमने ऐसी सरकारों का दौर देखा है जिन्होंने कनेक्टिविटी की चिंता किए बिना ही बड़े बड़े सपने दिखाए। परिणाम ये हुआ कि यहां कारखानों में ताले लग गए। ये भी दुर्भाग्य रहा कि दिल्ली और लखनऊ दोनों ही जगहों पर, परिवारवादियों का ही दबदबा रहा। सालों साल तक परिवारवादियों की यही पार्टनरशिप यूपी की आकांक्षाओं को कुचलती रही।

पीएम ने कहा कि सुल्तानपुर के सपूत श्रीपति मिश्रा के साथ भी तो यही हुआ था, जिनका जमीनी अनुभव और कर्मशीलता ही पूंजी थी, परिवार के दरबारियों ने उनको अपमानित किया। ऐसे कर्मयोगियों का अपमान यूपी के लोग कभी नहीं भुला सकते। आज यूपी में डबल इंजन की सरकार यूपी के सामान्य जन को अपना परिवार मानकर काम कर रही है। यहां जो कारखाने लगे हैं, जो मीलें हैं, उनको चलाने के साथ-साथ नए निवेश के लिए माहौल बना रही है। यूपी में आज सिर्फ 5 साल की योजना नहीं बन रही, बल्कि इस दशक की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए, इन्फ्रास्ट्रक्चर बनाया जा रहा है। पूर्वी और पश्चिमी डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर से यूपी को पूर्वी और पश्चिमी समुद्री तट से जोड़ने के पीछे यही सोच है. किसानों का सामना दुनिया के बाजारों तक पहुंच पाएगा।

उन्होंने कहा कि आज इस कार्यक्रम में यूपी के लोगों की कोरोना वैक्सीनेशन के लिए बेहतरीन काम करने के लिए प्रशंसा करना चाहता हूं। यूपी ने 14 करोड़ टीके लगाकर अपने राज्य को, देश ही नहीं, बल्कि दुनिया में अग्रणी भूमिका में खड़ा किया है। दुनिया के अनेक देशों की तो इतनी आबादी तक नहीं है। मैं यूपी के लोगों के लिए इस बात की भी सराहना करूंगा कि उसने भारत में बनी वैक्सीन के खिलाफ किसी भी राजनीतिक अपप्रचार को टिकने नहीं दिया। यहां के लोगों के जीवन से खिलवाड़ की साजिश को परास्त कर दिया है। यूपी की जनता इन्हें इसी तरह आगे भी परास्त करते रहेगी।

पीएम मोदी ने कहा कि चौतरफा विकास के लिए हमारी सरकार मेहनत कर रही है। कनेक्टिविटी के साथ ही यूपी में बुनियादी सुविधाओं में भी प्राथमिकता दे रही है। इसका लाभ नारी शक्ति को हुआ है। गरीब बहनों को जब उनका पक्का घर मिल रहा है तो उनको परेशानियों से मुक्ति मिल रही है। मुफ्त बिजली और गैस कनेक्शन से भी परेशानी दूर हो गई है। टॉयलेट के अभाव में घर और स्कूल में परेशानी बेटी-बहनों को होती थी। अब घर भी सुख है और बेटियों को भी बिना किसी हिचक के पढ़ाई का रास्ता भी मिला है।

उन्होंने कहा कि जो अपने समय में असफल रहे, वो योगीजी की सफलता नहीं देख पा रहे हैं. जो सफलता देख नहीं पा रहे हैं, वो इसे कैसे पचा पाएंगे। मोदी ने कहा कि उनका विचलित होना स्वाभाविक है। पीएम मोदी ने आखिर में फिर से पूर्वांचल एक्सप्रेस वे की सबको बधाई दी.  

Check Also

विदेश मंत्री के बयान पर कर्नाटक के गृह मंत्री ने दी प्रतिक्रिया

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने खुलासा किया कि विदेश मंत्रालय (एमईए) को 21 मई को …