Friday , June 14 2024

बच्चों की वैक्सीन को लेकर बड़ी खबर, जानें कब से शुरू हो सकता है वैक्सीनेशन?

नई दिल्ली। भारत में बच्चों के लिए कोरोना वैक्सीन को लेकर अभी भी सवाल जारी है. चाहे ज्याडस कैडिला की 12 साल से ज्यादा उम्र के बच्चों की वैक्सीन ZycovD हो या फिर भारत बायोटेक की कोवैक्सीन. अभी तक किसी के भी आने की कोई तारीख तय नहीं हुई है.

ZycovD के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिली

बता दें कि, ZycovD के इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिल चुकी है. वहीं, भारत बायोटेक की कोवैक्सीन जिसका 2 से 18 साल के बच्चों पर क्लीनिकल ट्रायल हुआ फिलहाल इसके लिए अभी डीसीजीआई (DCCI) की अनुमति का इंतजार कर रहे हैं.

दिल्ली में कांग्रेस नेताओं की बैठक में सोनिया गांधी ने दी नसीहत, कहा- BJP-RSS के झूठ का पर्दाफाश करना है

ज्याडस कैडिला का उत्पादन तेजी से चल रहा

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडविया के मुताबिक, ज्याडस कैडिला का उत्पादन तेजी से चल रहा है और जल्द उपलब्ध होगी. वहीं, कोवैक्सीन पर एक्सपर्ट की सलाह के बाद सभी पहलूओं को देखकर उन पर चर्चा कर फैसला लिया जाएगा.

तेजी से चल रहा वैक्सीनेशन अभियान

भारत मे कोरोना टीकाकरण काफी से तेजी से चल रहा है. मंगलवार सुबह 7 बजे तक 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को 102 करोड़ 94 लाख 01 हजार 119 डोज दी जा चुकी है और ये संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. लेकिन लोगों अब इस समय देश की बच्चों की कोरोना वैक्सीन का इंतजार कर रहे हैं.

मेट्रो अस्पताल के चेयरमैन डॉ. पुरुषोत्तम लाल ने साधना ग्रुप को दी शुभकामनाएं, कोरोना काल को लेकर साझा की जानकारियां

देश मे इसमें सबसे आगे दो वैक्सीन है जो आनेवाले समय मे बच्चों को दी जा सकती है ज्याडस कैडिला की ZycovD और भारत बायोटेक की Covaxin को लेकर चर्चा काफी तेजी है.

भारत में अब तक ज्याडस की कोरोना वैक्सीन जो 12 साल से ज्यादा उम्र के बच्चों को दी जा सकती है उसको इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी मिल चुकी है.

मिशन-2022 : दो दिवसीय यूपी दौरे पर अमित शाह, उत्तर प्रदेश की चुनावी नब्ज टटोलेंगे

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ज्याडस की वैक्सीन को मंजूरी मिल चुकी है और उसके बाद कंपनी ने उत्पादन शुरू कर दिया. वहीं, कीमत को लेकर भी जल्द ही फैसला लिया जा सकता है.

एक्सपर्ट कर रहे हैं चर्चा

इसके अलावा भारत बायोटेक की कोवैक्सीन का 2 से 18 साल के बच्चों पर क्लीनिकल ट्रायल किया गया था, जिसे सेंट्रल ड्रग स्टैण्डर्ड कंट्रोल आर्गेनाईजेशन की सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमिटी ने डीसीजीआई को अनुमति देनी की सिफारिश की है जिस पर फैसला होना बाकी है. भारत बायोटेक इस बारे में डेटा दे चुका है और इसपर एक्सपर्ट चर्चा कर रहे है.

IPL 2022: आइपीएल की दो नई टीमों की हुई घोषणा, अहमदाबाद और लखनऊ होगी नई टीम

अगले साल तक बच्चों को मिल सकती है वैक्सीन

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडविया ने कहा कि बच्चों की वैक्सीन को लेकर हम काफी सतर्क हैं और यह एक्सपर्ट की सलाह के साथ ही आगे बढ़ेगा, लेकिन मेरी जानकारी के मुताबिक, एक कमेटी ने अप्रूवल दे दिया है आगे का प्रोसेस तेजी से बढ़ रहा है.

फिलहाल बच्चों पर सरकार जल्दबाजी में कोई फैसला नहीं लेना चाहती है और सब कुछ देखने के बाद कोई फैसला लिया जाएगा. उम्मीद की जा रही है कि अगले साल से स्वस्थ बच्चों को वैक्सीन मिल सकती है. वहीं, कोमॉर्बिड बच्चों को पहले मिल सकती है.

गौतमबुद्धनगर में चलाया गया चेकिंग अभियान, संदिग्ध वाहनों और व्यक्तियों की ली गई तलाशी, 2 ऑटो सीज

Check Also

लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी होंगे अगले सेना प्रमुख

सरकार ने लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी को अगला सेना प्रमुख नियुक्त किया है। वह मौजूदा …