Monday , May 20 2024

सीएम योगी ने ‘भारतीय भाषाओं में राम’ का किया विमोचन, कहा- श्रीराम का जीवन चरित्र मनुष्यता का प्रतिबिंब

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को अयोध्या शोध संस्थान द्वारा प्रकाशित ग्रंथ ‘भारतीय भाषाओं में राम’ (चार खंड) का विमोचन किया।

सीएम योगी का बड़ा ऐलान, माफिया के कब्जे से मुक्त कराई गई जमीन पर बनेंगे गरीबों के आशियाने

मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम भारतीयता का प्रतीक

मुख्यमंत्री आवास पर आयोजित विमोचन समोराह में सीएम योगी ने कहा कि, मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम भारतीयता का प्रतीक हैं। श्रीराम का जीवन चरित्र मनुष्यता का प्रतिबिंब है।

राम को जिसने जिस भाव से भजा, उसे वैसी ही गति मिली

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि, राम को जिसने जिस भाव से भजा, उसे वैसी ही गति मिली। रत्नाकर ने भजा तो वाल्मीकि होकर रामायण की रचना की और मारीच ने द्वेषभाव से भजा तो उन्हें मनुष्य होते हुए भी पशु योनि में मरना पड़ा।

ऊर्जा मंत्री श्रीकान्त शर्मा ने किया निगोहां उपकेंद्र का निरीक्षण, ग्राम प्रधानों और उपभोक्ताओं से लिया फीडबैक

हनुमान ने ‘राम काज’ को जीवन माना तो लोकदेवता हो गए और रावण ने बैरभाव रखा तो उसकी ऐसी दुर्गति हुई कि बुराई का सनातन प्रतीक बन गया।

राम सर्वत्र हैं- सीएम योगी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि, दुनिया में सबसे बड़ी मुस्लिम आबादी का देश इंडोनेशिया हो या फिर थाईलैंड। या दक्षिण कोरिया जैसा देश। राम सर्वत्र हैं। सबने राम की महिमा को सहर्ष अंगीकार किया है।

यूपी की राजनीति से सामने आई दिलचस्प तस्वीर : एक ही फ्लाइट में चढ़े Akhilesh Yadav और Priyanka Gandhi

भारतीय भाषाओं में राम के प्रकाशन की सराहना

योगी ने अयोध्या शोध संस्थान व वाणी प्रकाशन द्वारा 17 भाषाओं में राम कथा को संकलित कर भारतीय भाषाओं में राम के प्रकाशन की सराहना की। कहा कि शीघ्र ग्लोबल इनसाइक्लोपीडिया आफ राम भी उपलब्ध होगी।

राम भारत की आत्मा हैं- हृदय नारायण दीक्षित

विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने कहा कि, कुछ समय पहले तक जो लोग राम को काल्पनिक पात्र बताकर उनका अपमान करते थे, उनमें अयोध्या का टिकट कटाने की होड़ मची है। राम भारत की आत्मा हैं।

अयोध्या में भव्य दीपोत्सव : 7 लाख 51 हजार दीए जलाकर पिछला रिकॉर्ड तोड़ने की तैयारी में डॉ. राममनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय

राम के बिना मनुष्यता की कल्पना नहीं की जा सकती। समारोह में राष्ट्रधर्म पत्रिका के संपादक ओम प्रकाश पांडेय ने श्रीराम जीवन चरित के विविध प्रसंगों के माध्यम से आदर्श चरित्र की व्याख्या की। वाणी प्रकाशन के अरुण माहेश्वरी ने सभी का आभार जताया।

Check Also

वाराणसी: आदि विश्वेश्वर की पूजा अर्चना के दाखिल अर्जेंट वाद पर सुनवाई आज

आदि विश्वेश्वर की पूजा अर्चना के लिए दाखिल अर्जेंट वाद पर रविवार यानी आज सिविल …