Friday , May 24 2024

रंजीत सिंह मर्डर केस में कोर्ट ने सुनाई सजा : राम रहीम समेत 5 दोषियों को उम्रकैद, पंचकूला में धारा 144 लागू

हरियाणा। डेरा सच्चा सौदा के पूर्व प्रबंधक रंजीत सिंह हत्याकांड के मामले में गुरमीत राम रहीम और अन्य 4 आरोपियों को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है.

राजधानी दिल्‍ली में डेंगू से साल की पहली मौत, अब तक सामने आए 723 केस

रंजीत सिंह हत्याकांड मामले में 19 साल बाद फैसला

रंजीत सिंह हत्याकांड मामले में सोमवार को 19 साल बाद फैसला आया है. पंचकूला की स्पेशल सीबीआई कोर्ट ने राम रहीम और अन्य 4 आरोपियों को उम्रकैद की सजा सुनाई है.

कोर्ट ने पहले ही राम रहीम को दोषी करार दे दिया था

दरअसल, इस मामले में गुरमीत राम रहीम को कोर्ट ने पहले ही दोषी करार दे दिया था, लेकिन उस समय कोर्ट ने उनकी सजा का ऐलान नहीं किया था.

BJP पदाधिकारियों की बैठक: जेपी नड्डा बोले- विकास कार्यों में रोड़े अटका रहा है विपक्ष

रेप और हत्या मामले में सजा काट रहा है राम रहीम

वहीं साध्वियों से रेप और पत्रकार की हत्या के मामले में राम रहीम पहले से ही जेल में सजा काट रहा है. डेरा सच्चा सौदा के पूर्व प्रबंधक रंजीत सिंह हत्याकांड मामले में पंचकूला की सीबीआई कोर्ट में चल रही तीन दोषियों की बहस पूरी हो चुकी थी.

राम रहीम पर 31 लाख रुपये का जुर्माना

12 अक्टूबर की सुनवाई के दौरान गुरमीत राम रहीम और कृष्ण लाल के वकील द्वारा बहस पूरी हो चुकी थी. वहीं आज की कार्रवाई के दौरान जसबीर, सबदिल और अवतार के वकील द्वारा भी बहस पूरी कर दी गई है.

शाहजहांपुर कोर्ट में घुसकर वकील की हत्या : मायावती ने सरकार पर बोला हमला, यूपी में आखिर सुरक्षित कौन?

जिसके बाद रंजीत हत्या मामले में सीबीआई की विशेष अदालत ने सजा का ऐलान किया है. सजा के साथ अदालत द्वारा गुरमीत राम रहीम पर 31 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया और अन्य 4 आरोपियों पर 50-50 हजार जुर्माना लगाया गया.

पंचकूला जिले में लगाई गई धारा 144

सजा के ऐलान होने से पहले ही शहर की सुरक्षा को देखते हुए जिला प्रशासन ने पंचकूला जिले में धारा-144 लगा दी गई थी.

शाहजहांपुर जिले में बड़ी वारदात : कोर्ट में घुसकर वकील की गोली मारकर हत्या

पंचकूला पुलिस उपायुक्त मोहित हांडा की ओर से जारी आदेश जारी कर सूचित किया गया है कि, राम रहीम सहित 5 दोषियों की सजा के ऐलान के चलते जिले में जान और माल के नुकसान, जिले में किसी भी तरह का तनाव पैदा करने, शांति भंग करने और दंगों की आशंकाओं को देखते हुए धारा 144 को लागू की गई है.

जुलाई, 2002 में हुई थी रंजीत की हत्या

रंजीत सिंह की साल 2002 में 10 जुलाई को हत्या कर दी गई थी. इस मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने की और पूरा मामला सीबीआई की स्पेशल अदालत में ही चला. घटना के 19 साल बीत जाने के बाद इस महीने की शुरुआत में राम रहीम समेत पांच लोगों को दोषी ठहराया गया था.

जम्मू कश्मीर में आम नागरिकों की हत्या के बीच एक्शन में सरकार, गृहमंत्री ने बुलाई बड़ी बैठक

मामले की पूरी बहस 12 अगस्त को पूरी कर ली गई थी. सीबीआई ने तीन दिसंबर, 2003 को इस मामले में एफआईआर दर्ज की थी. राम रहीम को एक पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा सुनाई गई है. वह रोहतक की सुनारिया जेल में सजा सुनाए जाने के बाद से ही बंद है.

Check Also

194 देशों के सामने आयुष्मान भारत और डिजिटल सार्वजनिक स्वास्थ्य का प्रदर्शन

डब्ल्यूएचए का 77वां सत्र 27 मई से 1 जून तक जिनेवा में आयोजित किया जाएगा। …