Saturday , May 25 2024

फर्जी दस्तावेज से कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह के साथ हुई धोखाधड़ी, केस दर्ज

नोएडा। यूपी के कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह के फर्जी सिग्नेचर बनाकर धोखाधड़ी का मामला सामने आया है. आरोप है कि दिल्ली की परमहंस कंपनी ने शेयर होल्डर बनाकर अपने कागजातों में मंत्री का नाम दिखाया है.

इस मामले में सिद्धार्थ नाथ सिंह ने नोएडा की कोतवाली सेक्टर 39 में FIR दर्ज कराई है और कहा है कि इस कंपनी से उनका कोई लेना-देना नहीं है.

Canada: कैलगरी में इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल का आयोजन, दर्शकों को पसंद आई शॉर्ट फिल्में

क्या है पूरा मामला?

सिद्धार्थ नाथ सिंह ने लगाया धोखाधड़ी का आरोप

कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने अपनी शिकायत में कहा कि कुछ दिन पहले एक मीडिया हाउस की तरफ से ईमेल मिला था. इससे उन्हें ये पता चला कि, उन्हें दिल्ली में रजिस्टर्ड कंपनी परमहंस टेक्नोलॉजी में बिना उनकी जानकारी के शेयर होल्डर बनाया गया.

जांच करवाने पर पता चला की फर्जी साइन कर उन्हें शेयर होल्डर के तौर पर दिखाया गया है. मंत्री ने आशंका जताई है कि फर्जी दस्तावेज से कंपनी का शेयर होल्डर दिखाकर धोखाधड़ी की गई है.

UP में कोविड टीकाकरण 10 करोड़ के पार, सीएम बोले- आप भी लगवाएं ‘टीका जीत का’

कंपनी के संचालक हरिमोहन हैं

बता दें कि सिद्धार्थनाथ सिंह का मकान नोएडा के सेक्टर 41 के सी ब्लॉक में मौजूद है. बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले एक मीडिया हाउस की तरफ से उन्हें ईमेल मिला था.

इसमें उनसे जानकारी मांगी गई कि, परमहंस टेक्नोलॉजी कंपनी जिसका रजिस्टर्ड पता जोर बाग दिल्ली का है इस कंपनी में वह भी शेयर होल्डर हैं? जबकि इस कंपनी के संचालक हरिमोहन हैं जो भारतीय मूल के ब्रिटिश नागरिक बताए जा रहे हैं.

सीएम योगी ने ‘जनता दर्शन’ आए लोगों की सुनी समस्याएं, अधिकारियों को दिए निर्देश

फर्जी हस्ताक्षर कर उन्हें शेयर होल्डर बनाया

एडीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि कंपनी के बारे में सीए के माध्यम से पता कराया गया तो खुलासा हुआ कि मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह के फर्जी हस्ताक्षर कर उन्हें शेयर होल्डर बनाया गया है. कंपनी के रजिस्ट्रेशन व शेयर होल्डिंग के संबंध में दस्तावेज व बैंक लेनदेन से इस फर्जीवाड़े का पता चला.

Check Also

दिल्ली विश्वविद्यालय में कई जगह लिखे दिखे चुनाव बहिष्कार के नारे, पुलिस ने एफआईआर की दर्ज

दिल्ली विश्वविद्यालय में कई स्थानों पर दीवारों पर चुनाव बहिष्कार के नारे लिखे पाए जाने …