Friday , June 14 2024

जानी मानी सामाजिक कार्यकर्ता और मशूहर नारीवादी लेखक कमला भसीन का निधन

नई दिल्ली: जानी मानी सामाजिक कार्यकर्ता और कवियत्री कमला भसीन का आज सुबह निधन हो गया. वे कुछ महीने पहले कैंसर की शुकार हुयी थीं. 75 साल की उम्र में उन्होंने अंतिम सांस ली. कमला भसीन का निधन महिला आंदोलन के लिए एक बड़ा झटका है. उनके निधन की जानकारी सामाजिक कार्यकर्ता कविता श्रीवास्तव ने दी. कवियत्री कमला भसीन महिलाओं के उत्थान के लिए काम करती थीं।

सामाजिक कार्यकर्ता कविता श्रीवास्तव ने ट्विटर पर लिखा, ”हमारी प्रिय मित्र कमला भसीन का आज 25 सितंबर को लगभग 3 बजे निधन हो गया. यह भारत और दक्षिण एशियाई क्षेत्र में महिला आंदोलन के लिए एक बड़ा झटका है. विपरीत परिस्थितियों में उन्होंने जीवन का जश्न मनाया. कमला आप हमेशा हमारे दिलों में जिंदा रहेंगी. एक बहन जो गहरे दुख में है.”

https://twitter.com/kavisriv/status/1441571645630541824?s=20

अभिनेत्री और सामाजिक कार्यकर्ता शबाना आजमी ने भी कमला भसीन के निधन पर शोक व्यक्त किया है. उन्होंने ट्वीट किया, ”तेजतर्रार कमला भसीन ने अपनी आखिरी लड़ाई, गायन और जीवन को अच्छी तरह से जीने का जश्न मनाया है. उनकी कमी हमेशा खलेगी. उनकी साहसी मौजूदगी हंसी और गीत, उनकी अद्भुत ताकत उनकी विरासत है. हम सब इसे संजो कर रखेंगे जैसा हमने पहले अरुणा रॉय के लिए किया.”

https://twitter.com/AzmiShabana/status/1441573816845541378?s=20

इतिहासकार इरफान हबीब ने कमला भसीन को याद करते हुए लिखा, ”प्रिय मित्र और असाधारण इंसान कमला भसीन के दुखद निधन के बारे में सुनकर बहुत दुख हुआ. हम कल ही उनके स्वास्थ्य के बारे में चर्चा कर रहे थे लेकिन यह कभी नहीं सोचा था कि वह अगले दिन हमें छोड़ देंगी. आप बहुत याद आएंगी.”

https://twitter.com/irfhabib/status/1441593749440585733?s=20

कौन थीं कमला भसीन?

भसीन 1970 के दशक से भारत के साथ-साथ अन्य दक्षिण एशियाई देशों में महिला आंदोलन की एक एक प्रमुख आवाज रही हैं. 2002 में, उन्होंने नारीवादी नेटवर्क ‘संगत’ की स्थापना की, जो ग्रामीण और आदिवासी समुदायों की वंचित महिलाओं के साथ काम करती है. वे अक्सर नाटकों, गीतों और कला जैसे गैर-साहित्यिक साधनों का उपयोग करके समाज में महिला उत्थान के लिए काम करतीं थीं. भसीन ने नारीवाद और पितृसत्ता को समझने पर कई किताबें लिखी हैं, जिनमें से कई का 30 से अधिक भाषाओं में अनुवाद किया गया.

Check Also

भारतीय सेना ने लांन्च किया ‘विद्युत रक्षक’, जनरेटर के लिए एक तकनीकी इनोवेशन

सेना ने एकीकृत जनरेटर निगरानी, संरक्षण और नियंत्रण प्रणाली-विद्युत रक्षक को सोमवार को लांच किया। …