Thursday , May 23 2024

उत्तर प्रदेश में अपराध दर 2013 के बाद सबसे कम: एनसीआरबी डेटा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 2013 के बाद से पिछले सात वर्षों में बलात्कार, हत्या और चोरी जैसे जघन्य अपराधों में 2020 में सबसे कम अपराध दर देखी गई।

यूपी में क्राइम में आई गिरावट

ताजा आंकड़े राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) ने बुधवार को जारी किए। जिसमें बलात्कार के मामले 2013 में 3,050 से घटकर 2020 में 2,769 हो गए, जिसमें लगभग 10% की गिरावट दर्ज की गई।

राजधानी लखनऊ समेत कई जिलों में सुबह से हो रही तेज बारिश

हत्या और चोरी के मामलों में भी गिरावट

इसी तरह, हत्याओं की संख्या 2013 में 5,047 से घटकर 3,779 हो गई – 25% की कमी। चोरी भी 2013 में 41,949 से घटकर 33,250 हो गई, जिसमें लगभग 21% की गिरावट दर्ज की गई।

जघन्य अपराधों की दर में कमी

एडीजी, कानून और व्यवस्था, प्रशांत कुमार ने टीओआई को बताया कि, अगर हम एनसीआरबी के रिकॉर्ड देखें, तो 2017 के बाद से बलात्कार और हत्या जैसे जघन्य अपराधों की दर में गिरावट आई है।

आज का पंचांग और राशिफल : जानें कैसा होगा आपका दिन, किन राशियों की चमकेगी किस्मत ?

प्रशांत कुमार ने पुलिस के कामकाज में बिना किसी राजनीतिक हस्तक्षेप और योग्यता के आधार पर पुलिस कर्मियों की फील्ड पोस्टिंग में पूर्ण पारदर्शिता के बिना खुली छूट को जिम्मेदार ठहराया।

2020 में लॉकडाउन अवधि में कम हुई अपराध दर

अपराध दर 2020 में लॉकडाउन अवधि में कम हो गई, लेकिन जल्द ही फिर से बढ़ गई। हमने इसकी आशंका से पूरी तैयारी कर ली थी, इसलिए अपराध पर काबू पाया गया।

Uttarakhand Weather Update: उत्‍तराखंड में भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी

अधिकारी ने यह भी बताया कि, कैसे एक स्थान पर प्रचलित अपराध पैटर्न के अनुसार पुलिस प्रतिक्रिया वाहनों को रखने से भी अपराध के मामलों में कमी आई है।

Check Also

काशी में 1200 छात्र-छात्राओं ने बनाई मानव श्रृंखला

लोकसभा चुनाव को लेकर छात्र- छात्राओं ने मतदाताओं को मतदान के लिए जागरूक करने के …