Tuesday , June 25 2024

UP Cabinet Expansion: केंद्र की तरह योगी मंत्रिमंडल में भी जातीय-क्षेत्रीय संतुलन साधेगी सरकार, शामिल हो सकते ये सात चेहरे

लखनऊ। हाल ही में उत्तर प्रदेश के सात सांसदों को केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल कर सबका साथ, सबका विकास का संदेश दे चुकी भारतीय जनता पार्टी उत्तर प्रदेश में भी लगभग यही दांव चलने जा रही है।

UP: मुख्तार अंसारी के बड़े भाई सपा में शामिल, अम्बिका चौधरी की भी घर वापसी

योगी मंत्रिमंडल में शामिल हो सकते हैं सात नए चेहरे

योगी मंत्रिमंडल के प्रस्तावित विस्तार के साथ सात नए मंत्रियों की जगह दिए जाने की संभावना है। लंबा मंथन इसी पर चला है कि, इन चुनिंदा चेहरों से कैसे हर जाति-वर्ग और क्षेत्र का समायोजन कर विधानसभा चुनाव के लिए संतुलन और बेहतर किया जाए।

हाईकमान से नामों पर सहमति लगभग बनी

हाईकमान से नामों पर सहमति लगभग बन चुकी है और अगले एक सप्ताह में कभी भी विस्तार संभावित है। योगी मंत्रिमंडल के विस्तार की चर्चा तो कई माह से चल रही है।

UP: सीएचसी नव किशोर पहुंचे डीएम अभिषेक, टीकाकरण महाअभियान का लिया जायजा

लेकिन पिछले दिनों दिल्ली में राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा और गृह मंत्री अमित शाह के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल की मुलाकात के बाद उन नामों पर सहमति बन गई थी, जिन्हें मंत्री बनाया जाना है।

माना जा रहा था कि, दिल्ली से वापसी के साथ ही इसकी घोषणा हो जाएगी, लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के निधन की वजह से यह टल गया। तीन दिन का राजकीय शोक रहा। उसके बाद राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द के आगमन से राज्यपाल और मुख्यमंत्री की व्यस्तता बढ़ गई।

चार एमएलसी भी मनोनीत किए जाएंगे

राष्ट्रपति राम नाथ कोविन्द के उत्तर प्रदेश प्रवास का रविवार को अंतिम दिन है। सोमवार को जन्माष्टमी है। माना जा रहा है कि उसके बाद मंत्रिमंडल विस्तार लगभग तय है। इसके साथ ही चार एमएलसी भी मनोनीत कर दिए जाएंगे।

आयुर्विज्ञान चिकित्सा संस्थान संजय गांधी पीजीआई का 26वां दीक्षांत समारोह, राष्ट्रपति ने छात्रों को दी उपाधियां

वहीं, संभावित नामों को लेकर तमाम अटकलें चल रही हैं। दिल्ली में हाईकमान की बैठक में शामिल रहे निषाद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय निषाद और कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद को एमएलसी बनाकर मंत्रिमंडल में ले जाना तय माना जा रहा है।

इधर, शुक्रवार शाम को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जितिन की सपरिवार मुलाकात ने इस संभावना को और मजबूत कर दिया है। इसके अलावा पार्टी सभी जाति-वर्गों को साथ जोड़ना चाहती है, इसलिए हर नाम पर उसी दृष्टकोण से विचार किया गया है।

बंगाल में उपचुनाव कराने की मांग, चुनाव आयुक्त से मिलेगा TMC सांसदों का प्रतिनिधिमंडल

ब्राह्मण, निषाद, गुर्जर समाज के साथ गोंड, जाट व पटेल समाज को प्रतिनिधित्व देने की चर्चा है। किसानों के प्रभाव वाले पश्चिम पर भी पार्टी की नजर रहेगी।

यही वजह है कि, विधायकों में मेरठ के सोमेंद्र तोमर, गाजियाबाद के दादरी से तेजपाल गुर्जर, बागपत के सहेंद्र सिंह रमाला तो महिलाओं की भागीदारी के लिहाज से मोदीनगर की मंजू सिवाच, फतेहपुर से कृष्णा पासवान, गाजीपुर की संगीता बलवंत बिंद के अलावा पिपराइच के महेंद्र पाल सिंह सेंथवार और सोनभद्र के संजय गोंड दावेदारों में शामिल हैं।

पीएम मोदी ने की ‘मन की बात’…मेजर ध्यानचंद को किया याद

उल्लेखनीय है कि, अभी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत मंत्रिमंडल में 53 सदस्य हैं, जबकि कुल साठ बनाए जा सकते हैं। इस तरह सात नए मंत्री बनाए जाने की गुंजाइश है।

चुनाव नजदीक है, इसलिए किसी समाज की नाराजगी से बचने के लिए मंत्रिमंडल से किसी भी वर्तमान मंत्री की छुट्टी किए जाने की संभावना न के बराबर है।

दुल्हन की तरह सजा अयोध्या… राष्ट्रपति का होगा भव्य स्वागत

Check Also

वाराणसी के इन इलाकों में ढाई घंटे बिजली सप्लाई रहेगी बंद

लाइन की मरम्मत को लेकर वाराणसी के रानीपुर और गोदौलिया उपकेंद्र से जुड़े क्षेत्रों में …