Tuesday , December 12 2023

15 अगस्त की परेड में शामिल होंगी हॉकी खिलाड़ी वंदना, राष्ट्रपति और पीएम से करेंगी मुलाकात

नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक में भारत को एक गोल्ड और चार ब्रॉन्ज मेडल के साथ दो सिल्वर मेडल मिले हैं। यानी कि, अब तक टोक्यो ओलंपिक में भारत को सात मेडल मिल चुके हैं। वहीं ओलंपिक टोक्यो में हॉकी में इतिहास रचने वाली हरिद्वार की बेटी वंदना कटारिया स्वदेश लौटने पर राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से भी मुलाकात करेंगी।

लाल किले पर होने वाली परेड में हिस्सा लेंगी वंदना

इसके साथ ही वह स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले पर होने वाले परेड में भी भारतीय दल के साथ हिस्सा लेंगी। वहीं प्रदेश के खेल मंत्री डा. अरविंद पांडेय वंदना कटारिया के घर पहुंचकर मां और परिजनों को सम्मानित करेंगे। खेल मंत्री कोई बड़ी घोषणा भी वंदना के लिए कर सकते हैं। 

वंदना ने ओलंपिक में हैट्रिक लगाकर रचा इतिहास

बता दें कि, रोशनाबाद गांव निवासी वंदना कटारिया ने ओलंपिक में भारतीय महिला हॉकी टीम में खेलते हुए हैट्रिक लगाकर इतिहास रचने का काम किया है। ऐसा करने वाली वह पहली भारतीय महिला बन गई हैं। इससे धर्मनगरी हरिद्वार और देवभूमि उत्तराखंड का नाम देश और पूरे विश्व में आज चमक रहा है।

ओलंपिक के समापन होने के बाद जब वह भारत वापस लौटेंगी तो दिल्ली में केंद्रीय खेल मंत्री से भारतीय ओलंपिक दल के साथ वह मुलाकात करेंगी। 

15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले पर होने वाली परेड़ में भी खिलाड़ियों के साथ हिस्सा लेंगी। इसी दिन शाम को चार बजे राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से दल के साथ वह उनसे मिलेंगी।

16 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनके आवास पर भी वंदना अन्य साथियों के साथ भेंट करेंगी। इन कार्यक्रमों में ओलपिंक दल के साथ ही वंदना कटारिया का भी स्वागत किया जाएगा। जिससे हरिद्वार और प्रदेश के लिए यह बड़ी बात होगी।

वंदना के लिए कोई बड़ी घोषणा कर सकते हैं मंत्री

उधर, दोपहर में खेल मंत्री डा. अरविंद पांडेय वंदना कटारिया के घर पहुंच रहे हैं। जिसमें वह वंदना के लिए कोई बड़ी घोषणा कर सकते हैं। जिससे जिले और खेल प्रेमियों की निगाहें मंत्री पर लगी हुई हैं।

हरिद्वार पहुंचने पर वंदना का होगा जोरदार स्वागत

जिला क्रीड़ा अधिकारी एसके डोभाल ने बताया कि, खेल मंत्री के पहुंचने की तैयारियां कर ली गई हैं। उन्होंने बताया कि, वंदना कटारिया जब हरिद्वार आएंगी तो उनका जिलाधिकारी की अध्यक्षता में स्वागत-सम्मान किया जाएगा। 

वंदना कटरिया की राह पर चल रही भतीजी खुशी

वंदना की भतीजी खुशी कटारिया भी बुआ वंदना कटरिया की राह पर चल रही हैं। खुशी कटारिया भी सब जूनियर टीम में शामिल हैं और इन दिनों मध्य प्रदेश के ग्वालियर में प्रशिक्षण ले रही हैं।

उन्होंने बताया कि शुक्रवार को मैच समाप्ति के बाद उनकी बुआजी से बात हुई थी। जिसमें उन्होंने उन्हें बेहतर खेल प्रदर्शन के लिए बधाई दी थी, लेकिन बुआजी पदक न जीत पाने को लेकर बहुत उदास थी, इसलिए वह ज्यादा बात नहीं कर पा रही थीं।

उधर, जिला क्रीड़ा अधिकारी एसके डोभाल और उप जिला क्रीड़ा अधिकारी वरुण बेलवाल ने बताया कि, वंदना कटारिया से फोन पर बात हुई। जिसमें उन्होंने वंदना को बधाई दी, लेकिन पदक न लाने की टीस वंदना की बातों से साफ झलक रही थी।

Check Also

वैश्विक निवेशक सम्मेलन: आज और कल दो दिन आम जनता के लिए खुली रहेगी स्थल पर लगी प्रदर्शनी

आज और कल दो दिन छात्रों और आम जनता के लिए निवेशक सम्मेलन स्थल वन …