February 20, 2017 11:42 AM
Breaking News

हॉट सीट पर बैठते ही ‘चीकू’ ने दिया विराट गुरुमंत्र

हिन्द न्यूज डेस्क। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि क्रिकेट के तीनों प्रारूपों में कप्तानी करना काफी ‘खास’ है और उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि उनकी जिंदगी में ऐसा भी दिन आएगा. जब मैं टीम में आया था तो मैं हमेशा ही प्रदर्शन करने, ज्यादा मौके हासिल करने, मजबूत करियर बनाने और टीम के लिये जीत में योगदान करने के बारे में सोचता था.

virat-kohli-rahul-dravid

कोहली टेस्ट टीम की कप्तानी कर रहे थे, उन्हें पिछले हफ्ते वनडे और टी20 का कप्तान नियुक्त किया गया क्योंकि देश के सबसे सफल कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने पद से हटने का फैसला किया.

यह भी पढ़े- इंग्लैंड दौरा रद्द कराने के लिए इस ‘भेदी’ ने किया था ईसीबी को फोन

images

मंदिरा बेदी से बातचीत के दौरान

दिल्ली के इस बल्लेबाज ने यहां ‘नीतेश हब मॉल’ का उद्घाटन करने के बाद एक ‘टॉक शो’ के दौरान मंदिरा बेदी से बात की. जब उनसे पूछा गया कि सभी तीनों प्रारूपों में कप्तानी करने के बाद के कैसा लग रहा है तो इस स्टार खिलाड़ी ने कहा कि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि वह यहां तक पहुंचेंगे.

यह भी पढ़े- प्रीमियर बैडमिंटन लीग- अवध वारियर्स ने हार कर भी जीती बाजी

उन्होंने कहा

मुझे लगता है कि सब कुछ भगवान द्वारा ही किया हुआ है. जो कुछ भी आपके साथ होता है, किसी कारण से होता है और आपकी जिंदगी में सही समय पर होता है. कोहली की कप्तानी में भारत की अंडर-19 टीम ने 2008 में विश्व कप खिताब जीता था. उन्होंने कहा कि जब वह जूनियर स्तर पर खेलते तो टीम की कप्तानी करते थे. उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन भारत की कप्तानी करना बिल्कुल ही अलग तरह की बात है. यह पूरी तरह से ‘हॉट सीट’ है क्योंकि इसके साथ ध्यान, प्रशंसा, आलोचना, सभी चीजें आती हैं.

यह भी पढ़े- अभ्यास मैच 2- रहाणे की चुनौतियों को दमदार अंदाज में जवाब दे रहे इंग्लैंड के बल्लेबाज