March 27, 2017 10:18 AM
Breaking News

सर्दियों में ड्राइविंग करते समय रखें इन बातों का ध्यान, नहीं होगी कोई दुर्घटना

 हिन्द न्यूज़ डेस्क : घने कोहरे से लेस सड़क और आए दिन बढ़ती दुर्घटनाओं से जन-जीवन तो प्रभावित होता ही है, साथ ही ड्राइविंग करने में भी परेशानी आती है. इसलिए सर्दियों के दिनों  में थोड़ा सावधानी  बरतना जरूरी होता है. कहा भी जाता है कि सावधानी हटी, दुर्घटना घटी. ऐसे में अगर आप कुछ बातों को ध्यान में रखकर गाड़ी चलाते हैं तो दुर्घटना से बच सकते हैं.

symbolic-image_650x488_41447310298

करें फॉग लाइट्स का इस्तेमालः
कोहरे में ड्राइव करने से पहले अपनी गाड़ी को तैयार कर लें.सबसे जरूरी चीज है फॉग लैंप. फॉग लैंप की मदद से आप कोहरे में हेडलाइट के मुकाबले ज्यादा अच्छी तरह और ज्यादा दूर तक देख सकते हैं.फॉग लैंप्स हेडलाइट्स की तरह ज्यादा दूर तक रोशनी नहीं फेंकते. इनसे निकलने वाली रोशनी कम दूरी तक जाती है, लेकिन ज्यादा वाइड एरिया कवर करती है. महंगी कारों में फॉग लाइट्स पहले से लगी होती हैं और सस्ती गाड़ियों में इनके लिए जगह छोड़ी जाती है.

हाई बीम में न करें ड्राइविंगः
कोहरे में हेडलाइट्स को कभी भी हाई बीम पर न रखें.ऐसा करने से कोहरे में रोशनी बिखर जाती है और कुछ नजर नहीं आता. हेडलाइट्स हमेशा लो बीम पर रखें. इससे न सिर्फ आपको देखने में आसानी होगी, बल्कि सामने वाले को भी गाड़ी की सही स्थिति का पता चल सकेगा.

इंडिकेटर्स का इस्तेमाल
रात में गाड़ी चलाते वक्त इंडिकेटर्स बहुत जरूरी होते हैं. आमतौर पर लोग इन्हें जलाने में लापरवाही करते हैं. कोहरे के दिनों में एक बार भी इस मामले में चूकना नहीं चाहिए. एक भी चूक आपके लिए घातक हो सकती है। साथ ही, इंडिकेटर्स के इस्तेमाल के समय का भी विशेष ध्यान रखें. इन्हें वक्त रहते जलाएं और गलत इंडिकेटर जलाने की चूक से भी बचें.

rtr3fbts_584a551902a7f

धीमी गति से चलें:
वैसे तो हमेशा ही निर्धारित गति सीमा में ड्राइविंग करनी चाहिए, लेकिन कोहरे के दौरान आप जितना संभव हो सके, गाड़ी को उतना धीमें चलाएं.ऐसा इसलिए जरूरी है क्योंकि अगर कोहरे में अचानक से आपको कोई जानवर या गाड़ी वगैरह नजर आती है, तब आपके पास गाड़ी पर नियंत्रण बनाने का पर्याप्त समय होता है.

सड़क के किनारे चलें:
कोहरे वाली सड़कों पर हमेशा बाईं ओर का किनारा पकड़ कर चलना चाहिए.साथ ही सड़क के किनारे लगे हुए पेंट पर जब लाइट पड़ती है, तब उससे भी आपको सड़क के मोड़ का अंदाजा होता रहता है. सड़क के बीचो-बीच चलने से बचें.ऐसी स्थिति में दुर्घटना की संभावना और बढ़ जाती है.