February 20, 2017 11:46 AM
Breaking News

समधी ने भेजा अखिलेश को पैगाम, झगड़ा खत्म करो अब वक्त नहीं है

हिन्द न्यूज़ डेस्क| यूपी विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो चुका है. लेकिन अभी तक सपा में मची घमासान खत्म होने का नाम नहीं ले रही है. इन सभी के बीच मीडिया की तरफ से जारी हो रहे एग्जिटपोल पार्टियों की धड़कने बाधा रहे हैं. इस बार किसी भी पार्टी की तरफ से यह नहीं कहा जा रहा है कि उनकी पार्टी को पूर्ण बहुमत मिलेगा.

इन सभी के बीच लगातार कुछ लोग सपा में सुलह कराने का काम कर रहे हैं. पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के समधी लालू यादव समेत उनकी पार्टी के ही कैबिनेट मंत्री आजम खान इस कार्य में लगातार लगे है. जिससे इस पार्टी की साख बची रहे.

136236832

यह भी पढ़ें-  पिता मुलायम के दुलारे अखिलेश यादव कलियुग के असली श्रवण कुमार

इन सभी के बीच लगातार पार्टी में सपा के दोनों गुटों की तरफ से बयानबाजी का भी दौर चल रहा है. इन सभी के साथ ही पार्टी के कार्यकर्त्ता खुद को समझ नहीं पा रहे है किस तरफ जाए. मंगलवार को मुलायम और अखिलेश की मुलाकात के चलते माना जा रहा था कि इस मुलाकात के बाद पार्टी में सब ठीक हो जाएगा लेकिन डेढ़ घंटे तक चली पिता- बेटे की ये मुलाकात भी बेनतीजा रही.

जिसके बाद आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने बताया कि उन्होंने अखिलेश यादव से फोन पर बात करके उनसे पिता से सुलह करने की अपील की. घमासान के लिए आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने अमर सिंह और रामगोपाल को जिम्मेदार ठहराया.

maxresdefault

यह भी पढ़ें- दादा और पापा की झलक देखनी है तो अदिति यादव में देखिए

लालू ने बताया कि मेरी अखिलेश से बात हुई, मैंने कहा कि झगड़ा खत्म करो अब वक्त नहीं है. अखिलेश से कहा कि हम सिर्फ 3 महीने के लिए आग्रह कर रहे हैं. इन दोनों की लड़ाई में एक तरफ रामगोपाल पार्टी हैं और एक तरफ अमर सिंह पार्टी है. अमर सिंह सिर्फ याद कराने में लगे रहते हैं कि हमने बहुत किया है.

बता दें कि इससे पहले सोमवार को अखिलेश को लेकर मुलायम सिंह नरम पड़ते नजर आए थे. मुलायम सिंह ने साफ कर दिया था कि अगले मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ही होंगे. जिसके बाद मंगलवार सीएम अखिलेश यादव मुलायम सिंह से मिलने उनके आवास पर पहुंचे थे जहां दोनों के बीच लगभग डेढ़ घंटे तक बातचीत हुई, लेकिन डेढ़ घंटे तक चली दोनों की ये मुलाकात बेनतीजा रही.