March 29, 2017 4:52 AM
Breaking News

रईस पर शिवसेना का शिकंजा, करेगा फिल्म को मालामाल

हिन्द न्यूज डेस्क (HUMA ALAM) जब भी कोई बड़े स्टार की फिल्म बन कर तैयार हुई कि आ गये रोकने वाले. कौन… नहीं जानते आप अरे… और कौन वही शिवसेना उनका तो काम ही है कोई भी फिल्म को रिलीज से पहले उसमें अड़ंगे लगाना. खैर वो कुछ कर लें फिल्म तो रिलीज होती ही है. और हां बिन प्रमोशन ही उसका प्रमोशन भी हो जाता है. अब शिवसेना को क्या फायदा होता है इससे ये तो नहीं पता लेकिन फिल्म को काफी मुनाफा मिल जाता है. और इस बार बारी है रईस पर रोक लगाने की.

pjimage (1)

यह भी पढ़ें-दिशा की इस टॉपलेस तस्वीर पर दी जा रही हैं गालियां

आपको बता दें कि शिवसेना जब भी कोई फिल्म रिलीज होती है उसे रोकने के लिये आ खड़ी होती है शिवसेना का तो कुछ होता नहीं हां फिल्म जरूर बॉक्स ऑफिस पर सफल हो जाती है. अगर आपको याद होगा तो 12 फरवरी 2010 को रिलीज हुई फिल्म ‘माई नेम इज़ ख़ान’ जिसके रिलीज होने से पहले भी कई अड़ंगे लगाए गए थे. लेकिन क्या हुआ फिल्म का फिल्म उस साल की सबसे ज्यादा कमाऊ फिल्म की लिस्ट में नंबर एक पर आ गयी. और इतना ही नहीं फिल्म को कई अवॉर्ड भी मिले.

dhamki (1)

यह भी पढ़ें-पाकिस्तान अल्पसंख्यकों के अनुकूल देश के रूप में जाना जाएगा : शरीफ

और इसी परंपरा को आगे रखते हुए शिवसेना ने अब शाहरुख की रईस पर शिकंजा कसा है. जी हां फिल्म का ट्रेलर रिलीज होने के बाद लोग जितना बेसब्री से उसका इंतजार कर रहे हैं उतनी ही शिद्दत से शिवसेना ने फिल्म को न रिलीज करने की धमकी भी दी है.

यह भी पढ़ें-अक्षय कुमार का हुआ ‘बावरा मन’ ट्विटर पर किया पोस्ट

बता दें कि शिवसेना के धमकी देने का मकसद फिल्म में पाकिस्तानी एक्ट्रेस माहिरा खान का मौजूद होना. धमकी की जानकारी फिल्म वितरक अक्षय राठी ने दी हैं. राठी ने ट्वीट करके कहा हैं की शिवसेना की छत्तीसगढ इकाई ने लिखा हैं फिल्म को रिलीज़ नहीं किया जाए क्योंकि इसमें पाकिस्तानी एक्ट्रेस माहिर खान हैं.

यह भी पढ़ें-धमाल मचानें आ गया है ओके जानू का एक और गाना

आपको बता दें कि खत में साफ तौर पर धमकी दी गयी है कि अगर छत्तीसगढ़ में कहीं भी इस देशद्रोही की फिल्म रिलीज होती है तो फिर इसकी जवाबदेही सरकार और प्रशासन की होगी. फ़िल्म डिस्ट्रीब्यूटर अक्षय राठी ने इस मामले में ट्विटर पर एक तस्वीर शेयर कर उद्धव ठाकरे, आदित्य ठाकरे से ये सवाल किया कि क्या वो इस खत के बारे में जानते हैं और क्या वो शिव सेना की तरफ से इसकी ज़िम्मेदारी लेते हैं?

यह भी पढ़ें-चीन और पाकिस्तान के बीच बन जाएगी दीवार

इसके अलावा उन्होंने छत्तीसगढ़ सरकार और प्रशासन को भी इस बारे में आगाह करते हुए निवेदन किया कि ये ध्यान रखा जाए कि ऱईस की स्क्रीनिंग के दौरान किसी को किसी भी तरह की कोई दिक्कत ना हो और ना ही शहर की शांति व्यवस्था बिगड़े.

यह भी पढ़ें-चीन: साल 2016 में आगजनी में 1,582 लोगों की हुई मौत

अब देखना ये है कि फिल्म कब रिलीज होगी और फिल्म को इस मसले पर कितना फायदा या नुकसान मिलेगा.

.