January 22, 2017 3:12 AM
Breaking News

मोतीझील में फैली गंदगी से मार्निंग वाक करना हुआ दूभर

हिन्द डेस्क : जगह-जगह फैली गंदगी से लोगों का जीना जहां दुश्वार हो गया है वहीँ शहर की पहचान बने पार्क और झील भी इस गंदगी का शिकार होते नजर आ रहे है.ऐसा ही नजारा है हमारे कानपुर के मोतीझील का. जहां लोग सुबह-सुबह मार्निग वाक करने के लिए जाते है वहां सिवाय कीचड़ और बदबू के कुछ नहीं है.

बीमार होने के डर से लोग यहां आने से हिचकने लगे है.

images-18

बताते चले कि कानपुर का मोतीझील जहां हमारे महान दिग्गज मंत्री और नेता सैर सपाटे के लिए आया करते थे,वहां अब सिर्फ गढ्ढे है और उसमें भरा कीचड़ का पानी है.

बताते चलें कि जल निगम ने एक वर्ष पूर्व कारगिल पार्क मोतीझील के अंदर से जलकल विभाग तक पाइप लाइन डाली थी। इसके चलते नगर निगम गेस्ट हाउस की तरफ का जलाशय बंद कर दिया गया था। वहीं पार्क के सामने के जलाशय में स्वामी विवेकानंद जी की प्रतिमा लगाई जा रही है। इसलिए झील का पानी बीच में सुखाया गया है।

download-13

इस तरह दोनों झीलें बस नाम की बची हैं।जलकल निगम का कहना है कि पहले यहां की सफाई होगी फिर इसमें साफ पानी डाला जायेगा.इसके लिए  नगर निगम ने अमृत योजना के तहत मोतीझील के सुन्दरीकरण के लिए पांच करोड़ रुपये का खाका तैयार किया है।