April 25, 2017 4:11 PM
Breaking News

बारहवीं में कॉमर्स के बाद ये हैं बेहतर करियर विकल्प

हिन्द न्यूज़ डेस्क। अगर आप बारहवीं में कॉमर्स लेने जा रहे हैं लेकिन आपको पता नहीं कि इसके बाद आप कौन-कौन से करियर अपना सकते हैं तो आपको परेशान होने की जरुरत नहीं। आज हम आपको बताएंगे कि कॉमर्स के छात्रों के लिए बेहतर करियर ऑप्शन्स क्या हैं-

10career1

बैचलर्स ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन (BBA)
कॉमर्स के छात्रों के बीच बीबीए काफी लोकप्रिय है. इसमें छात्रों को बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन की बारीकियां सिखाई जाती हैं. यह कोर्स करने के बाद छात्र फाइनेंस, मार्केटिंग और एचआर में नौकरी पा सकते हैं.

बैचलर्स ऑफ कामर्स (B.Com)
कामर्स में तीन साल का ग्रेजुशन कर के आप अकाउंटिंग फाइनेंस, ऑपरेशंस और कई क्षेत्रों में अपनी करियर बना सकत हैं.

बैचलर्स ऑफ कामर्स (ऑनर्स) (B.Com (Honours)
बैचलर्स ऑफ कामर्स (ऑनर्स) बी.कॉम से अलग होता है. जहां बी.कॉम तीन साल का होता है वहीं बैचलर्स ऑफ कामर्स (ऑनर्स) चार साल का होता है. इसमें छात्रों को संबंधित विषय पढ़ाने के साथ-साथ स्पेशलाइजेशन भी कराया जाता है. छात्र ई-कॉमर्स, बैंकिंग, मार्केटिंग मैनेजमेंट, ऑफिस मैनेजमेंट के अलावा और भी स्पेशलाइजेशन कर सकते हैं.

1327679_wallpaper1

कंपनी सेक्रेटरी (CS)
इंस्टीट्यूट ऑफ कंपनी सेक्रेटरीज ऑफ इंडिया सीएस का कोर्स कराता है. कॉमर्स के अलावा साइंस और ऑटर्स के छात्र भी इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं. यह फाउंडेन, एग्जिक्यूटिव और प्रोफेशनल, तीन चरणों में होता है. सीएस बनने के बाद आपके पास रोजगार के कई विकल्प खुल जाते हैं. कंपनियों में नौकरी के अलावा स्वतंत्र प्रैक्टिस भी कर सकते हैं. आपके केंद्र सरकार के लिए काम करने का मौका भी मिल सकता है.

चार्टर्ड अकाउंटेंट (CA)
कॉमर्स कर रहे ज्यादातर छात्रों की यह पहली पसंद होती है. सीए बनने का सपना लगभग हर ही छात्र का होता है। इसके लिए सबसे पहले सीपीटी (CPT) के लिए अप्लाई करना पड़ता है। सीपीटी में सफल होने के बाद छात्र अगले पड़ाव तक पहुंचते हैं. इसके तीन चरण होते हैं. सीए का कोर्स लंबा होने के साथ-साथ काफी कठिन भी होता है. कंपनी के सारे फाइनेंशियल मैटर्स सीए ही हैंडल करते हैं.

loading...