April 25, 2017 4:09 PM
Breaking News

देश के अच्छे दिन तभी आएंंगे जब 2019 में कांग्रेस सत्ता में आएगी: राहुल गांधी

हिन्द न्यूज डेस्क। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की अध्यक्षता में कांग्रेस का जन-वेदना सम्मेलन दिल्‍ली में चल रहा है. राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि इस सरकार ने सभी लोकतांत्रिक संस्थाओं को कमजोर कर दिया है. इतिहास में ऐसा पहली बार है जब भारत का कोई प्रधानमंत्री विदेशों में भारत का मजाक उड़ा रहा है.

यह भी पढ़े- 39 की आयु 31 का राज, जानिए विवेकानंद की कम उम्र में मौत की वजह

rahul-gandhi_1484118449

जनवेदना सम्मेलन में बोलते हुए पूर्व मनमोहन सिंह ने कहा कि नोटबंदी देश के लिए आपदा के समान है. देश एक बुरी स्थिति से गुजर रहा है और इसका सबसे बुरा समय आना बाकी है. ये एक अंत की शुरुआत है.

मनमोहन सिंह ने कहा मोदी लगातार कहते रहे हैं कि वो देश की उन्नति और अर्थव्यवस्था को मजबूत करने आये हैं पर इतने दिनों को देखने के बाद पता चला कि उनके सभी वादे खोखले हैं. उनकी नीतियों को देश ने सिरे से नकार दिया है.

यह भी पढ़े- बीजेपी कर सकती है अपने उम्मीदवारों की घोषणा

राहुल गांधी ने पीएम मोदी का मजाक उड़ाते हुए कहा कि जिन्हें योग नहीं आता उन्हें पद्मायन नहीं कर चाहिए. ढाई साल पहले मोदी जी आए और कहा कि मैं देश को साफ करूंगा, उन्होंने झाड़ु पकड़ी और 3-4 दिन चला कर फिर भूल गए। उन्हें लगा कि देश साफ हो गया.

rahul-gandhi01_1नोटबंदी की सभी अर्थशास्त्रियों ने निंदा की, लेकिन इस सरकार के पास अपना होममेड अर्थशास्त्री हैं. इस सरकार के अर्थशास्त्री रामदेव हैं. राहुल गांधी ने कहा कि आज मीडिया के लोग खुलकर बोल नहीं पा रहे हैं. वे कहते हैं कि अब हवा बदल गई है.

 राहुल गांधी ने कहा कि मोदी सरकार की नीतियों ने देश को 10 साल पीछे कर दिया. पीएम मोदी लोकतांत्रिक संस्थाओँ को कमजोर करने में लगे हैं. ये संस्थाएं ही देश की आत्मा हैं. ये लोग देश की आत्मा को खत्म करने में लगे हैं: राहुल गांधी

बीजेपी और हमारे PM हमेशा यह पूछते हैं कि कांग्रेस ने पिछले 70 सालों में क्या किया, जनता को मालूम है कि हमने क्या किया. हमारे नेताओं ने इस देश के लिए खून और आंसू बहाए हैं.

नोटबंदी पर उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने दुनिया का सबसे बड़ा आर्थिक प्रयोग हंसते-खलते मजाक में ले लिया. उन्होंने देश के लोगों के खून-पसीने की कमाई को रद्दी में बदल दिया. पीएम मोदी का नोटबंदी का फैसला पूरी तरह अपरिपक्व फैसला था. नोटबंदी की वजह से कई लोगों की नौकरी चली गई.

loading...