February 21, 2017 6:03 PM
Breaking News

दिल्ली के कोटक महिंद्रा बैंक पर पड़ा आयकर छापा

नोटबंदी के बाद देश में हलचल का माहौल है. ये हलचल थमने का नाम नही ले रही ओए शायद ही भारत में ऐसी कोई जगह बची रह गई होगी जहाँ पर आयकर विभाग का छापा न पड़ा हो. हर तरफ से लाखों, करोंड़ों की संख्या में नये और पुराने नोट मिल रहे हैं. आरबीआई का साफ़ कहना है की नोटों की कोई भी कमी नही है. प्फिर भी लोग कैश से वंचित कैसे रह जा रहे हैं, इसके मद्देनज़र सरकार ने बैंक पर भी अपनी नज़र तिरछी कर ली है.

731_1

आयकर विभाग की एक टीम ने शुक्रवार(23 दिसंबर) सुबह दिल्ली में कोटक महिंद्रा बैंक की कस्तूरबा गांधी मार्ग शाखा पर जांच के लिए पहुंची। जानकारी के अनुसार आयकर विभाग को शक है कि इस बैंक के दो खातों में नोटबंदी के दौरान 38 से 40 करोड़ रुपए जमा करके काले धन को सफेद करने का काम किया गया है।

यह भी पढ़ें-  अखिलेश की नईया डुबोने में लगे हैं, सपा के युवा नेता

आईटी विभाग के अधिकारियों ने उक्त दो फर्जी खातों को लेकर बैंक कर्मचारियों से पूछताछ भी की। हालांकि बैंक ऐसी किसी भी तरह की गड़बड़ी से इनकार कर रहा है। बैंक का कहना है कि, ‘दो कस्टमर्स के खातों की जांच पड़ताल के लिए आयकर विभाग ने शाखा का दौरा किया था। इन खातों में केवाईसी संबंधित कोई गड़बड़ी नहीं है। शाखा प्रबंधक से भी अधिकारियों ने पूछताछ की है लेकिन बैंक को किसी भी गड़बड़ी के बारे में नहीं बताया है।’

हमारे यहां कोई फर्जी खाता नहीं: कोटक मह‌िंद्रा

बैंक का ये भी कहना है कि, ‘कोटक महिंद्रा अपने खातों के बड़े लेनदेन की जानकारी आयकर विभाग को देता रहता है। बैंक का कोई फर्जी खाता नहीं है। हम जांच में पूरा सहयोग कर रहे हैं।’ गौरतलब है कि कोटक महिंद्रा से पहले दिल्ली में एक्सिस बैंक की कई शाखाओं पर छापे पड़ चुके हैं। एक्सिस बैंक के दो मैनेजरों को काले धन को सफेद करने के आरोप में गिरफ्तार किया जा चुका है।

यह भी पढ़ें- अब दिल्ली दूर नहीं, जनता के लिए खुला लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे
एक्सिस बैंक मामले की जांच के दौरान आयकर विभाग को पता लगा था कि कोटक महिंद्रा बैंक में भी 8 खाते हैं जिनमें 38-40 करोड़ रुपए के कालेधन को सफेद करने का शक जताया जा रहा है।

Leave a Reply