August 23, 2017 11:46 AM
Breaking News

जानें कैसे नरिया ने छोटी बांह के कुर्ते को बनाया देश का बड़ा ब्रांड

हिन्द न्यूज़ डेस्क (SHIVENDRA SINGH BAGHEL)| देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से जुड़ी जानकारियां हर कोई जानना चाहता है. सभी लोगों को उनके हर किस्से को जानने में रूचि है. आज हम लेकर आएं है मोदी से जुड़े 25 ऐसे किस्से जिन्हें इससे पहले शायद आपने नहीं सुना होगा.

modi_iiii_28012016

यह भी पढ़ें- यूपी चुनाव में राहुल की दमदार टीम के आगे बेबस हो जायेगें मोदी!

नरिया से लेकर उनके छोटी बांह के ब्रांड तक की किस्से-

1. नरेन्द्र मोदी का जन्म 17 सितंबर 1950 को वड़नगर में दामोदार दास मूलचंद मोदी और हीराबेन के यहां हुआ।

2. नरेन्द्र मोदी 5 भाई-बहनों में से दूसरे नंबर की संतान हैं।

3. नरेन्द्र मोदी को बचपन में नरिया कहकर बुलाया जाता था।

4. नरेन्द्र मोदी के पिता की रेलवे स्टेशन पर चाय की दुकान थी।

5. 1965 में भारत-पाक युद्ध के दौरान उन्होंने स्टेशन से गुजर रहे सैनिकों को चाय पिलाई।

pm-modi-1-1

यह भी पढ़ें- बीजेपी की लहर में उड़ गए सपाई

6. नरेंद्र मोदी बचपन में आम बच्चों से बिलकुल अलग थे।

7. नरेंद्र मोदी वड़नगर के भगवताचार्य नारायणाचार्य स्कूल में पढ़ते थे। नरेन्द्र मोदी स्कूल में औसत छात्र थे।

8. उन्हें बचपन में एक्टिंग का शौक था।

9. नरेन्द्र मोदी बचपन में स्कूल में एक्टिंग, वाद-विवाद, नाटकों में भाग लेते और पुरस्कार जीतते थे। एनसीसी में भी शामिल हुए।

10. वे एक बार शर्मिष्ठा तालाब से एक घड़ियाल का बच्चा पकड़कर घर लेकर आ गए।

64-namochildhood_3

यह भी पढ़ें- यूपी मे ‘आप’ नही लेकिन ‘आप’ का जबरदस्त प्लान

11. नरेन्द्र मोदी बचपन में साधु-संतों से प्रभावित हुए। वे बचपन से ही संन्यासी बनना चाहते थे।

12. संन्यासी बनने के लिए मोदी स्कूल की पढ़ाई के बाद घर से भाग गए थे।

इस दौरान मोदी पश्चिम बंगाल के रामकृष्ण आश्रम सहित कई जगहों पर घूमते रहे।

13. नरेंद्र मोदी बचपन से ही आरएसएस से जुड़े हुए थे। 1958 में दीपावली के दिन गुजरात आरएसएस के पहले प्रांत प्रचारक लक्ष्मण राव

इनामदार उर्फ वकील साहब ने नरेंद्र मोदी को बाल स्वयंसेवक की शपथ दिलवाई थी।

14. वे बहुत मेहनती कार्यकर्ता थे। वे आरएसएस के बड़े शिविरों के आयोजन में मैनेजमेंट का हुनर दिखाते थे। आरएसएस नेताओं का ट्रेन और बस में रिजर्वेशन का जिम्मा उन्हीं के पास होता था।
15. हिमालय में कई महीनों तक साधुओं के साथ रहे। दो साल बाद जब वह हिमालय से वापस लौटे तब उन्होंने संन्यास जीवन त्यागने का फैसला लिया।

images-1

यह भी पढ़ें- श्रवण कुमार थे, हैं और आगे भी बने रहेगें अखिलेश यादव

16. हिमालय से लौटने के बाद मोदी ने अपने भाई के साथ मिलकर अहमदाबाद

की कई स्थानों पर चाय की दुकान भी लगाईं। उन्होंने हर कठिनाई को सहते हुए चाय बेची।

17. अठारह साल की उम्र में नरेन्द्र मोदी का विवाह उनकी मां ने बांसकाठा जिले के राजोसाना गांव में रहने वाली जसोदा बेन से

किया गया था।

18. नरेन्द्र मोदी बाद में घर छोड़कर संघ के प्रचारक बन गए।

19. नरेन्द्र मोदी अहमदाबाद संघ मुख्यालय में रहते तो वहां सारे छोटे काम करते जैसे साफ-सफाई, चाय बनाना, और बुर्जुग नेताओं के के कपड़े धोना शामिल है।
20. नरेन्द्र मोदी कोई भी नया काम शुरू करने से पहले अपनी मां का आशीर्वाद जरूर लेते हैं। चुनाव में मिली जीत के बाद उन्होंने अपनी मां से जाकर आशीर्वाद लिया।

youngmodi

यह भी पढ़ें- बसपा सुप्रीमो ने 401 दिग्गजों को उतरा मैदान में, चौथी लिस्ट भी जारी

21. जब नरेन्द्र मोदी प्रचारक थे तो उन्हें  स्कूटर चलाना नहीं आता था। शकरसिंह वाघेला उन्हें अपनी स्कूटर पर घुमाया करते थे।

22. नरेन्द्र मोदी संघ में कुर्ते की बांह छोटी करवा लीं, ताकि वह ज्यादा खराब न हो, जो वर्तमान में मोदी ब्रांड का कुर्ता बन गया है और देशभर में मशहूर है।

23. नरेन्द्र मोदी ने अन्य प्रचारकों के विपरीत दाढ़ी रखते और उसे ट्रीम भी करवाते।

24. वे 1975 में इमरजेंसी के दौरान सरदार का रूप धरकर ढाई सालों तक पुलिस को छकाते

रहे।

25. नरेंद्र मोदी ने अमेरिका में मैनेजमेंट और पब्लिक रिलेशन से संबंधित तीन महीने का कोर्स किया है।

यह भी पढ़ें- ख़ास अंदाज़ में करण ने मनाया बिपाशा का जन्मदिन

loading...