June 23, 2017 7:16 AM
Breaking News

कोकीन से भी खतरनाक ड्रग चीनी, सामने आया यह सच

चीनी एक ऐसी सामग्री है जो हर घर के किचेन में मिल जाएगी. लेकिन इसको लेकर जो बात सामने आई है वो बेहद हैरान करने वाली है. जब हम ड्रग्स के बारे में सुनते हैं तो दिमाग में एक दो नाम तुरंत आ जाते हैं, जैसे की कोकीन, चरस, गांजा, हेरोइने. लेकिन इस लिस्ट में एक नाम और एड कर लीजिए. वो है ‘चीनी.’ आइए बताते हैं की आखिर क्यों.

untitled-14_1483866953

इस्तेमाल है खतरनाक

चीनी को भी ड्रग्स की कैटेगरी में शुमार कर दिया गया है. ऐसा एक सहोद में सामने आया है. रिसर्चर्स ने इसका एक्सपेरिमेंट बच्चों पर किया है। जैसे एडल्ट्स में नशे की लत लगने पर और ज्यादा ड्रग्स की डिमांड की जाती है, वैसे ही बच्चे भी और चीनी की डिमांड करते पाए गए। अंतर बस इतना है कि ड्रग्स का असर काफी जल्दी दिखता है, वहीं चीनी का नेगेटिव असर काफी सालों बाद दिखाई देता है।

यह भी पढ़े- यह जानवर ही सही लेकिन एक मां है

untitled-13_1483866864

दिमाग पर ड्रग्स जैसा ही असर

रिसर्च में ये बात सामने आई है कि जैसे ड्रग्स लेने पर दिमाग में कई चेंजेस आते हैं। दिल की धड़कन बढ़ जाती है, वैसे ही सिंपटम्स चीनी खाने पर भी दिखाई देता है। अंतर बस ये है कि अल्कोहल और दूसरे ड्रग्स की तरह चीनी का तुरंत कोई भी नेगेटिव असर नहीं होता। लेकिन कई सालों बाद इसके हानिकारक रिजल्ट्स साफ दिखाई देते हैं।

यह भी पढ़े- Viral video: टूट कर ही सही लेकिन जीना तो पड़ता ही है

यही बात कॉमन

1934 के ग्रेट डिप्रेशन के समय अमेरिका में मिठाई और कैंडीज की सेल काफी बढ़ गई थी। इसका मतलब साफ है कि मीठा खाने पर लोगों को खुशी महसूस होती है। चीनी और ड्रग्स में यही बात कॉमन है।

loading...