July 23, 2017 2:13 AM
Breaking News

आपकी इजाजत के बिना कोई नहीं चुरा पायेगा आपकी महत्वपूर्ण जानकारी

हिन्द न्यूज़ डेस्क। अब आप की इजाजत के बिना कोई भी आपके फेसबुक, व्हाट्सएप से आपकी महत्वपूर्ण जानकारी कोई भी नहीं ले पायेगा. इंटरनेट उपभोक्ताओं की गतिविधियों, पसंद-नापसंद की जानकारी चुराकर अरबों डॉलर की कमाई करने वाली गूगल, फेसबुक-व्हाट्सएप जैसी कंपनियों को यूरोपीय संघ (ईयू) ने तगड़ा झटका दिया है.

download

ईयू के मंगलवार को पेश नए विधेयक के मुताबिक, इंटरनेट कंपनियां उपभोक्ताओं की स्पष्ट इजाजत के बिना उनकी जानकारियां नहीं मिल पायेगी अभी तक ये नियम दूरसंचार कंपनियों पर ही लागू थे, जो कॉल और एसएमएस को पढ़कर या लोकेशन जानकर ग्राहकों को लुभावनी पेशकश करती थीं.

ऑनलाइन विज्ञापनदाताओं का कहना है कि कड़े नियमों से वेबसाइटों की कमर टूट जाएगी और उनके लिए मुफ्त सेवाएं दे पाना मुश्किल हो जाएगा.माइक्रोसॉफ्ट, फेसबुक, व्हाट्सएप, ट्विटर के साथ जीमेल, याहूमेल, या हॉटमेल जैसी ईमेल सेवाएं ग्राहकों के ईमेल को पढ़ती हैं और उनकी पसंद-नापसंद के आधार पर उनके मेल या पसंदीदा वेबसाइटों पर विज्ञापन देती हैं.

यह भी पढ़ें-महिलाएं अब पहन सकेंगी 2000 के नोट

इसके लिए वे उपभोक्ताओं की इजाजत नहीं लेतीं या फिर सेवा-शर्तों के लंबे चौड़े दस्तावेज में इसका मामूली जिक्र कर देती हैं और लॉगइन के साथ ही यूजर्स की स्वत: सहमति मान ली जाती है। इसी कमाई के बलबूते गूगल, फेसबुक जैसी दिग्गज इंटरनेट कंपनियां मुफ्त सेवाएं देती हैं. लेकिन ईयू के नए प्रस्ताव से उनकी कमाई गिरेगी.

गूगल, याहू, बिंग जैसे सर्च इंजनों को इंस्टालेशन से पहले यूजर्स से पूछना होगा कि वेबसाइट पर कुकीज को इजाजत देंगे या नहीं. ब्राउजर के पहले के संस्करणों में डिफॉल्ट सेटिंग के साथ यूजर्स की इजाजत मान ली जाती थी।.कुकीज ब्राउजरों के जरिये यूजर्स की जानकारी और उनकी पसंदीदा वेबसाइटों का पता लगाकर विज्ञापन कंपनियों तक डाटा पहुंचाते हैं और ये कंपनियां उस डाटा के आधार पर विज्ञापन देती हैं. कानून बनने के पहले यूरोपीय संसद से ये नियम पारित कराने होंगे.

 

loading...